कोलंबो|… सोमवार को श्रीलंका के पूर्व पेट्रोलियम मंत्री व पूर्व क्रिकेट कप्तान अर्जुना राणातुंगा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. यह गिरफ्तारी एक दिन पहले सीलोन पेट्रोलियम कार्पोरेशन (सीपीसी) पर हुई हिंसक झड़प के सिलसिले में हुई है जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो अन्य घायल हो गए थे. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने कहा कि राणातुंगा को एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया जहां उन्हें जमानत मिल गई.

सीपीसी कर्मचारियों के एक समूह ने रविवार को कंपनी परिसर में प्रदर्शन किया था. जब हालात तनावपूर्ण हो गए तो राणातुंगा की सुरक्षा टीम के एक गार्ड ने प्रदर्शनकारियों पर गोली चला दी जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए.

संघर्ष के दौरान विशेष सुरक्षा बल राणातुंगा को सीपीसी परिसर से सुरक्षित निकाल कर ले गए थे. पुलिस ने कहा कि गोली चलाने वाले सुरक्षा गार्ड को तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया था.

सीपीसी ट्रेड यूनियन के आह्वान पर हुई हड़ताल के कारण रविवार को पूरे देश में पेट्रोल पंपों पर लंबी कतारें देखी गईं. राणातुंगा की गिरफ्तारी के बाद सीपीसी ट्रेड यूनियन ने हड़ताल वापस ले ली.

श्रीलंका में इस समय राजनीतिक घमासान मचा हुआ है. राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को बर्खास्त कर महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है. इसका अर्थ यह हुआ कि मंत्रीपरिषद स्वत: भंग हो गई. हालांकि, विक्रमसिंघे ने कहा कि उनके पास संसद में बहुमत है और वह अभी भी प्रधानमंत्री हैं.





See More

 
Top