श्रीनगर : तीन गढ़वाल रायफल्स के दिवंगत नायब सूबेदार रघुवीर सिंह के पार्थिव शरीर के अलकनंदा किनारे ढुंडप्रयाग घाट पहुंचने पर पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की गई। दिवंगत सैनिक के बड़े पुत्र 14 वर्षीय आशीष ने चिता को मुखाग्नि दी। रुद्रप्रयाग सैन्य छावनी से आए 26 जवानों के एक दल ने दिवंगत रघुवीर सिंह के पाíथव शरीर को तोपों की सलामी दी।

देवप्रयाग विधायक विनोद कंडारी ने भी ढुंडप्रयाग घाट पहुंचकर सैनिक रघुवीर सिह को श्रद्धांजलि दी। पूर्व प्रमुख विजयंत ¨सह निजवाला, तहसीलदार हरिहर उनियाल, कोतवाल चंदन ¨सह चौहान, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी जीबीएस बिष्ट के साथ ही क्षेत्र के सैकड़ों लोगों ने अंतिम विदाई दी।

पट्टी कड़ाकोट के खोलीसील निवासी तीन गढ़वाल रायफल्स में तैनात नायब सूबेदार रघुवीर सFह आसाम के डिगबोई जिले के तिनसुखिया में तैनात थे। 25 सितंबर को दिमागी बुखार की शिकायत पर उन्हें सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां 30 सितंबर को उन्होंने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

वह अपने पीछे पत्नी सरोजनी देवी, बेटी मनीषा के साथ ही आशीष और अमन व कृष को छोड़ गए हैं। मंगलवार सुबह करीब आठ बजे सेना के जवान तिरंगे में लिपटे उनके पार्थिव शरीर को लेकर उनके गांव खोलासील पहुंचे। जहां से उनका पार्थिव शरीर ढुंडप्रयाग घाट पर लाया गया। उनके पाíथव शरीर को लेकर सूबेदार डीएस रावत और जवान अवतार ¨सह यहां पहुंचे थे।





See More

 
Top