अल्मोड़ा- धार्मिक, सांस्कृतिक, पर्यटन एवं ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण जनपद अल्मोड़ा की अपनी विशिष्ट पहचान है यह बात प्रदेश के राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने आज अल्मोड़ा भ्रमण के दौरान कही। उन्होंने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड में पर्यटन की अपार सम्भावनायें है हमें महिलाओं व युवाओं को पर्यटन से सम्बन्धित योजनाओं का लाभ उठाने के लिए प्रेरित् करना होगा साथ ही महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें महिला स्वयं सहायता समूह से जोड़ना होगा।

पर्वतीय क्षेत्र की विषम भौगोलिक परिस्थितियों में महिलायें कार्य करती है- राज्यपाल

राज्यपाल ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्र की विषम भौगोलिक परिस्थितियों में महिलायें कार्य करती है हमारी प्राथमिकता होगी कि महिलाओं को सरकारी योजनाओं का लाभ अधिकाधिक पहुॅचे। इस अवसर पर उन्होंने महिला स्वास्थ्य योजनाओं पर विशेष ध्यान देने एवं उनके कल्याण के लिए कार्य करने पर जोर दिया। इस अवसर पर उन्होंने स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, औद्यानिकी के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि किसानो के उत्पादों का उनके बेहतर मूल्य मिले इसके लिए बाजार उपलब्ध कराना होगा तथा जनपद में विशेष उत्पाद के लिए फोकस किया जाय।

मूलभूत सुविधायें सुदूर ग्रामीण अंचलों तक न पहुंचने के कारण जो पलायन हो रहा- राज्यपाल

प्रदेश के राज्यपाल ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में मूलभूत सुविधायें सुदूर ग्रामीण अंचलों तक न पहुंचने के कारण जो पलायन हो रहा है उस पर भी हमें ध्यान देना होगा ताकि पलायन को रोका जा सके। विशेषकर उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की बात कही। उन्होंने कहा कि जनपद अल्मोड़ा में अनेक धार्मिक पर्यटन स्थल है जिनको विकसित किया जा रहा है इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह भूमि अष्ट भैरवों, नव दुर्गाओं की भूमि से जानी जाती है यहाॅ पर ऐतिहासिक सूर्य मन्दिर स्थापित है जिसकी पूरे विश्व में अलग पहचान है।

हमें विलुप्त हो रहे उद्योगो को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है-राज्यपाल

राज्यपाल ने इस अवसर पर जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया से जनपद की अनेक विकास योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि योजनाओं का लाभ पात्र लोगो को मिले इसका ध्यान देना होगा। राज्यपाल ने कहा कि यहाॅ पर प्रचुर मात्रा में जड़ी-बूटी का उत्पादन होता है उसका विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्र में च्यूड़ा के पौधे से शहद आदि प्रोत्साहित किया जा रहा है और कहा कि यहाॅ की हस्तशिल्प को बढ़ावा देने की बात कही और यहाॅ के ताम्र उद्योग, ऊनी उद्योग की अपनी अलग पहचान रखता है। हमें विलुप्त हो रहे उद्योगो को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है।

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम करना होगा- राज्यपाल

प्रदेश के राज्यपाल ने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम करना होगा और महिला सशक्तीकरण पर विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने पर्वतीय क्षेत्रों में बढ़ रही नशा प्रवृत्ति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आज की युवा पीढ़ी से काफी ग्रसित है इसके लिए प्रत्येक अभिभावक को अपने स्तर से विशेष प्रयास करने के साथ ही जिला प्रशासन को युवाओं में बढ़ती नशाखोरी को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने होंगे.

राज्यपाल ने कहा कि हमारी ये भी कोशिश रहेगी कि प्रधानाचार्यों व अभिभावकों के साथ वार्ता कर इसका उचित हल निकाला जायेगा। इस अवसर पर उन्होनें कहा कि यहां पर बेहतर शिक्षा बच्चों को मिल सके इसका ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन की अपार सम्भावनायें यहां है. इसके लिए हमें ठोस कदम उठाने होगें। इस अवसर पर उन्होंने निश्चय स्वयं सहायता समूह एवं जय जागनाथ स्वयं सहायता समूह के उत्पादो टोकरी, चैलाई के लडडू, जैम, चटनी, अचार, मसाले, पहाड़ी उत्पादों को भी देखा और जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि इसके विपणन की व्यवस्था की जाय ताकि ये आत्मनिर्भर बन सकें।

बाल संरक्षण गृह, बालिका निकेतन, नारी निकेतन सहित अन्य संस्थाओं की ली जानकारी

प्रदेश के राज्यपाल ने जनपद में पर्यटन से जुड़े स्थलों को विकसित करने के साथ ही कहा कि बाहर से आने वाले पर्यटकों को इन स्थलों पर जाने के लिए आवागमन की सुविधा हो सके इसका भी विशेष ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि विशेषकर निराश्रित, असहाय और समाज के निर्बल वर्गों के लिए जो कार्यक्रम चलाये जा रहे है उन पर विशेष ध्यान देना होगा। इस अवसर पर उन्होंने बाल संरक्षण गृह, बालिका निकेतन, नारी निकेतन सहित अन्य संस्थाओं के बारे में भी जानकारी ली और कहा कि इन संस्थानों में रह रहे लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इसका विशेष ध्यान देंगे.

भ्रमण के दौरान राज्यपाल के एडीसी असीम श्रीवास्तव, जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी. रेणुका देवी, मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित, अपर जिलाधिकारी केएस टोलिया, उपजिलाधिकारी विवेक राय, अवधेश कुमार सिंह, पुलिस उपाधीक्षक वीर सिंह जिला विकास अधिकारी केके पंत सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।





See More

 
Top