गैरसैंण राजधानी के लिए पंचेश्वर से उत्तरकाशी तक यात्रा 
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
पंचेश्वर। स्थायी राजधानी गैरसैंण समेत पहाड़ के तमाम सवालों को लेकर पंचेश्वर से उत्तरकाशी तक की ‘जन संवाद यात्रा’ का आज से आगाज हो गया है। स्थायी राजधानी गैरसैंण संघर्ष समिति के तत्वावधान में आयोजित इस यात्रा में उत्तराखंड की तमाम संघर्षशील ताक़तें अगले 15 दिन तक प्रदेश की आम जनता के बीच जाकर तमाम मुद्दों पर संवाद करेगी।
यात्रा के पहले दिन पंचेश्वर में जगह-जगह जनसंपर्क किया गया। दो जगहों पर जनसभाओं का आयोजन भी किया गया। पंचेश्वर में जनसभा को संबोधित करते हुए संघर्ष समिति के संयोजक चारु तिवारी ने कहा कि हम गैरसैंण राजधानी के आलोक में पहाड़ के सभी सवालों को देखते हैं। गैरसैंण राजधानी पहाड़ के विकास के विकेंद्रीकरण का ज़रिया है। उन्होंने कहा कि पंचेश्वर बाँध के नाम पर पहाड़ के गाँवों और उसकी संस्कृति को ख़त्म किया जा रहा है। बड़े-बड़े बाँधो के निर्माण से एक दिन पहाड़ तबाह हो जाएगा। इसके साथ ही सरकार ने पहाड़ की ज़मीनों को उद्योगपतियों के हवाले करने की साज़िश कर दी है। वह दिन दूर नहीं होगा, जब पहाड़ के लोगों के पास ज़मीन हाई नहीं बचेगी। आज पहाड़ की ज़मीनों को बचाने का सवाल सबसे बड़ा है।
उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि उत्तराखंड आज तमाम तरह के संकटों का सामना कर रहा है, जिसके लिए सत्ता में बारी-बारी से रहीं भाजपा कांग्रेस जिम्मेदार हैं। पूर्व विधायक और यूकेडी नेता पुष्पेश त्रिपाठी ने कहा कि उत्तराखंड के अस्तित्व को बचाने के लिए बड़ी लड़ाई लड़नी होगी। जनसभा को वरिष्ठ पत्रकार दिनेश जुयाल, उमेश तिवारी ‘विश्वास’, रूपेश कुमार, मोहित डिमरी आदि ने भी संबोधित किया। संचालन प्रदीप सती ने किया। इस मौक़े पर प्रेरणा गर्ग, नारायण सिंह रावत, गोविंदी वर्मा, लक्ष्मण सिंह, कमल मठपाल, शिवराज सिंह बनौला आदि शामिल थे।

The post स्थायी राजधानी को लेकर सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में शुरू हुई यात्रा appeared first on Dev Bhoomi Media.





See More

 
Top