त्योहारी सीजन पर केंद्र सरकार ने रेलवे के 11.91 लाख गैरराजपत्रित कर्मचारियों को 78 दिन के वेतन के बराबर आधारित बोनस देने का फैसला किया है.

रेल कर्मियों को 78 दिन के बोनस के तौर पर 17950 रुपये मिल रहा है. ये न्यूनतम मजदूरी से भी कम है. हालांकि रेलवे के कर्मचारी संगठन इस बोनस को बेहद कम बता रहे है.

पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल की हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्ष रेलवे के 11.91 लाख गैरराजपत्रित कर्मचारियों को 78 दिन के वेतन के बराबर उत्पादकता आधारित बोनस देने का फैसला हुआ है.





See More

 
Top