हरिद्वार : डीएम दीपक रावत दबंग डीएम माने जाते हैं और तुरंत शिकायत पर कार्यवाही करते हैं…क्या डीएम 15 साल की विवाहिता को इंसाफ दिला पाएंगे…चौंकिएगा मत 15 साल की विवाहिता बिल्कुल ठीक पढ़ा. डीएम दीपक रावत के पास शिकायत लेकर पहुंची और बोली कि साहब मेरी उम्र 15 साल है और मेरी शादी 40 वर्ष के युवक से करा दी गई और अब परिवार वाले ससुराल जाकर रहने का दबाव बना रहे हैं। पीड़िता ने कहा कि मुझे इंसाफ चाहिए। सोमवार को जनता दरबार पहुंची एक किशोरी की यह गुहार सुनकर जिलाधिकारी सन्न रह गए।

जिलाधिकारी ने पुलिस को मामले की जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए

किशोरी की पूरी समस्या सुनने के बाद जिलाधिकारी ने पुलिस को मामले की जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उन्होंने किशोरी को इंसाफ का भरोसा दिलाने के साथ ही हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया। सोमवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित जनता मिलन में मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव से पहुंची 15 वर्षीय किशोरी ने जिलाधिकारी दीपक रावत के सामने अपनी पीड़ा रखकर न्याय की गुहार लगाई।

दोबारा ससुराल में जाकर रहने का दबाव बनाया जा रहा, DM सन्न

किशोरी ने कहा कि परिजनों ने आठ साल की उम्र में ही उसकी शादी हरियाणा निवासी 40 वर्षीय युवक से करा दी। कुछ साल ससुराल में रहने के बाद अब वह मायके में आकर रह रही है। बाल विवाह का जिक्र सुनकर जिलाधिकारी दीपक रावत और जनता मिलन में मौजूद अन्य अधिकारी भौचक्के रह गए। जिलाधिकारी ने मंगलौर पुलिस को तत्काल मामले की जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए।

किशोरी पहले भी आ चुकी है कोतवाली 

मंगलौर के कोतवाल गिरीश शर्मा का कहना है कि किशोरी पहले कोतवाली भी आ चुकी है। मामले की पहले भी जांच कराई गई, लेकिन बाल विवाह का पुख्ता प्रमाण फिलहाल नहीं मिल पाया है।इसके अलावा एक बार किशोरी के ससुराल और मायके दोनों पक्षों के लोगों को बुलाकर पूछताछ भी की जा चुकी है। अब जिलाधिकारी के आदेश पर फिर से जांच की जाएगी।





See More

 
Top