देश में आपदा की हमेशा सम्भावना बनी रहती है ऐसे में आपदाओं के प्रति संवेदनशीलता को देखते हुए हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपक रावत ने तीन सेटेलाइट फोन आपदा प्रबंधन को देकर और मजबूत बना दिया है.

उनका कहना है की आपदा होने की सूरत में त्वरित प्रतिक्रिया देना जरूरी होता है। इसके लिए राज्य आपदा प्राधिकरण प्रबंधन (यूएसडीएमए) प्रत्येक जिलों को बजट भी आवंटित कर चुका है, जिसमे हरिद्वार अब आपदा को लेकर हाईटेक हो गया है.

आपदा प्रबंधन अधिकारी मीरा कैंथुरा ने कहा कि आपदा के दौरान ड्रोन अहम भूमिका निभा सकते हैं और सेटेलाइट फोन भी अहम हैं. जिसमे हमारे पास फ़िलहाल तीन सेटेलाइट फोन है और अब हम सभी आपात स्थिति  के लिए तैयार है, इनका इस्तेमाल दुर्गम इलाकों में सूचनाओं को एकत्रित करने के साथ ही विभिन्न प्रकार की मॉक ड्रिल में किया जा सकेगा।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top