ब्रिस्बेन|…. पिछले दो विदेशी दौरों पर खराब खेल के कारण आलोचना का शिकार होने वाली टीम इंडिया का इस साल का आखिरी विदेशी दौरा बुधवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू हो रहा है. दोनों टीमें तीन टी-20 मैचों की सीरीज का पहला मैच गाबा स्टेडियम में खेलेंगी. टीम इंडिया ने हाल ही में अपने घर में टी-20 की विश्व विजेता टीम वेस्टइंडीज को मात दी. इस सीरीज में भी वह अपने इसी विजयी क्रम को जारी रखना चाहेगी.

वेस्टइंडीज के खिलाफ विराट कोहली ने आराम किया था. कोहली अब इस सीरीज के लिए टीम में वापस आ चुके हैं. टीम इंडिया काफी मजबूती के साथ इस सीरीज में उतर रही है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया इस समय ऐसे दौर से गुजर रही जहां वो अपनी ख्याति के अनुरूप दिखाई नहीं दे रही है.

इसी साल मार्च में दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में खेले गए टेस्ट मैच में बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट पर प्रतिबंध लगा दिया था. तब से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट एक बड़े बदलाव के दौर से गुजर रहा है.

स्मिथ और वार्नर टीम के बेहद अहम सदस्य थे और इन दोनों के कारण ऑस्ट्रेलिया को जो नुकसान उठाना पड़ा है वो हालिया दौर में उसको मिली लगातार हारों से पता चला है. ऐसे में भारत के सामने जो ऑस्ट्रेलियाई टीम खड़ी हैं वो काफी कमजोर सी दिखाई पड़ रही है.

ऐसे में भारत की राह आसान सी लग रही है. टीम इंडिया के कप्तान कोहली हालांकि मेजबानों को हल्के में लेने के मूड में नहीं है. उन्होंने कहा है कि घर में खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया स्मिथ और वार्नर के बिना भी मजबूत है.

दोनों टीमों की तुलना में हालांकि भारत ज्यादा मजबूत दिख रही है. कोहली की फॉर्म सदबाहर है. वहीं रोहित शर्मा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई सीरीज में बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया था. रोहित के लिए ऑस्ट्रेलिया में अपनी उस फॉर्म को जारी रखना चुनौती होगी. ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने हाल ही में कहा था कि वह रोहित के खिलाफ शॉर्ट गेंद का इस्तेमाल करेंगे.

गाबा की विकेट पर बाउंस वैसे ही ज्यादा मिलता है. ऐसे में रोहित ही नहीं बल्कि बाकी टीम इंडिया के बल्लेबाजों को भी सचेत रहने की जरूरत होगी. कोहली और रोहित के अलावा सलामी बल्लेबाज शिखर धवन भी टीम के अहम बल्लेबाज हैं.

टीम इंडिया ने मैच से एक दिन पहले अपने अंतिम-12 खिलाड़ियों का ऐलान कर दिया है. कोहली ने तीन स्पिनर और तीन तेज गेंदबाजों को चुना है. कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के साथ हरफनमौला खिलाड़ी क्रूणाल पांड्या को भी तीसरे स्पिन विकल्प के तौर पर टीम में जगह मिली है. वहीं जसप्रीत बुमराह, खलील अहमद और भुवनेश्वर कुमार के रूप में तीन तेद गेंदबाजों को टीम में शामिल किया गया है.

विकेट के पीछे की जिम्मेदारी ऋषभ पंत को मिलना तय लग रहा है. वेस्टइंडीज सीरीज में पंत ने दस्ताने नहीं थामे थे. उनकी जगह दिनेश कार्तिक ने विकेटकीपिंग की थी.

कोहली तीन स्पिनरों या तीन तेज गेंदबाजों के साथ उतरते हैं यह मैच के दिन ही पता चलेगा. गाबा की विकेट को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि तीन गेंदबाजों के साथ जाना भारत के लिए फायदे का सौदा होगा और ऐसे में युजवेंद्र या कुलदीप को बाहर बैठना पड़ सकता है क्योंकि पांड्या बल्ले और गेंद दोनों से अहम भूमिका निभा सकते हैं.

वहीं अगर ऑस्ट्रेलिया की बात की जाए तो उसकी बल्लेबाजी कप्तान एरॉन फिंच के जिम्मे है. भारत की मजबूत टीम के खिलाफ अगर ऑस्ट्रेलिया को जीत चाहिए तो फिंच को आगे रहकर रन बनाने होंगे. फिंच के अलावा ऑस्ट्रेलिया के पास क्रिस लिन जैसा बल्लेबाज भी है. लिन भी फॉर्म में नहीं है. पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई सीरीज में उनका बल्ला पूरी तरह से खामोश रहा था.

ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी में मिशेल स्टार्क, जोस हाजलेवुड और पैट कमिंस जैसे नाम नहीं है. इनको ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट सीरीज के लिए बचा के रखा है. इस तिगड़ी के न होने से टीम का भार बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जेसन बेहरेनडोर्फ, नाथन कल्टर नाइल और एंड्रयू टाई पर होगा.

टीमें :

टीम इंडिया : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, लोकेश राहुल, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, क्रूणाल पांड्या, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, खलील अहमद और युजवेंद्र चहल.

ऑस्ट्रेलिया : एरॉन फिंच (कप्तान), एश्टन अगर, जेसन बेहेरनडोर्फ, एलेक्स कैरी, नाथन कल्टर नाइल, क्रिस लिन, बेन मैक्डॉरमेट, ग्लैन मैक्सवेल, डार्सी शॉर्ट, बिलि स्टानलेक,मार्कस स्टोइनसि, एंड्रयू टाई, एडम जाम्पा.





See More

 
Top