देहरादून : सगंठन महामंत्री संजय कुमार पर भाजपा की ही महिला कार्यकर्ता द्वारा यौन शोषण का आरोप लगाए जाने के बाद उत्तराखंड भाजपा में खलबली तो मची ही है साथ ही पार्टी नेता मामले क्या बोले ये भी पार्टी नेताओं को समझ में नहीं आ रहा है. मामले पर कोई भी भाजपा नेता अपनी स्पष्ट राय मीडिया के सामने नहीं रख पा रहा हैं और ऱखें भी कैसे… मामला भाजपा के लिए गले की फांस बन गया है. बोले तो फंसें या न बोले तो मौन धारण पर भी सवाल उठना लाजमी है.

देवेंद्र भसीन के बयान पर भी उठता है सवाल

मामले पर सबसे पहला बयान प्रांतीय मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन ने दिया. जिस पर वो खुद ही घिरते हुए नजर आ रहे हैं. देवेंद्र भसीन ने भाजपा पार्टी को महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित बताया है जबकि जिस तरीके से आरोप भाजपा कार्यकर्ता द्वारा उत्पीड़न का लगाया गया है तो उससे सवाल प्रदेश मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन पर भी खड़ा होता है कि कैसे पार्टी की ही कार्यकर्ता ने संगठन महामंत्री पर यौन उत्पीडन का आरोप लगाया. उससे सवाल यही उठता है कि अगर भाजपा महिलाओं के लिए सबसे महफूज पार्टी है तो कैसे ये आरोप महामंत्री पर लगाया गया.

ये है प्रांतीय मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन का बयान

रविवार को पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में डा. देवेंद्र भसीन ने कहा कि भाजपा महिलाओं के लिए सबसे महफूज व सुरक्षित पार्टी है। महिलाओं के प्रति सबसे संवेदनशील भाजपा ही है।.

भाजपा मुख्यालय में महिला के उत्पीड़न के आरोप पर सफाई देते हुए भसीन ने कहा कि यह प्रकरण हाईकमान के संज्ञान में है और आंतरिक प्रक्रिया जारी है। उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिला कार्यकर्ता के इंसाफ को लेकर पार्टी महानगर अध्यक्ष विनय गोयल से हुई बातचीत पर पूछे गए सवाल के जवाब में डा. भसीन ने कहा कि पूरे प्रकरण को पार्टी समग्रता से देख रही है। भाजपा महिलाओं के प्रति बेहद संवेदनशील है। यह इस बात का भी प्रमाण है कि एक महिला के केंद्रीय मंत्री पर लगे आरोप के तुरंत बाद ही पार्टी ने उनको पद से हटा दिया.





See More

 
Top