केदारनाथ और यमुनोत्री के कपाट शुक्रवार को मंत्रोच्चार और अनुष्ठान के साथ जाड़े के मौसम के लिए बंद कर दिए गए.

गंगोत्री मंदिर के कपाट गुरुवार को ही बंद कर दिए गए थे, जबकि बद्रीनाथ के कपाट 20 नवंबर को बंद होंगे.

जाड़े के छह माह के अवकाश के दौरान केदारनाथ के भगवान शिव उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर में रहेंगे. मां यमुना खुशीमठ (खरसाली) में रहेंगी.

केदारनाथ के कपाट बंद होने के दौरान बद्री-केदार मंदिर समिति के अधिकारियों के अलावा 1,785 तीर्थयात्री मौजूद थे.





See More

 
Top