• भाजपा संगठन महामंत्री के महिला यौन उत्पीड़न में फंसने का मामला
  •  संघ के  पूर्व प्रचारकों व पूर्ण कालिकों की बैठक से सहमा आरएसएस 
राजेन्द्र जोशी 
देहरादून : आरएसएस के पूर्व प्रचारकों व पूर्ण कालिकों की देहरादून में हुई एक बैठक ने भाजपा सरकार, संगठन और संघ की भी नींदें उड़ा दी हैं।  खबर है कि मामले को संघ ने गंभीरता से लिया है और शायद इसीलिए हरिद्वार में संघ के महत्वपूर्ण लोगों ने बैठक आहूत कर सरकार,संगठन को एक मंच पर लाया जा रहा है। 
उत्तराखंड भाजपा संगठन महामंत्री संजय कुमार के महिला यौन उत्पीड़न में फंसने के बाद भाजपा सरकार और संगठन में भूचाल आ गया है। दरअसल इस घटनाक्रम के ठीक बाद पूर्व प्रचारकों और पूर्णकालिक स्वयं सेवकों ने मिलकर संगठन, सरकार समेत संघ की प्रदेश में कार्यप्रणाली पर सवाल उठाये हैं। मामले में गंभीर होने के बावजूद निकाय चुनाव के चलते तात्कालिक रूप से तो कोई कदम नहीं उठाया गया। लेकिन संघ के चिंतकों को यह जरूर कहा गया कि उनकी बात को संघ से गंभीरता से लिया है।  
लेकिन अब निकाय चुनाव के परिणाम आ जाने  के फ़ौरन बाद संघ ने सीएम और अध्यक्ष के अलावा नाराज लोगों को एक मंच पर लाने का निर्णय लिया है। इसी कड़ी में बुधवार (आज) आनन-फानन में सीएम और अध्यक्ष हरिद्वार के लिए रवाना हो गए। जहाँ खबर है कि 3 बजे के बाद संघ के चेहरों की मौजूदगी बैठक होगी।  खबर ये भी है कि इसमें उन लोगों को भी बुलाया गया है जो नाराजगी के रूप में संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत जी को पत्र लिख चुके हैं। 
गौरतलब हो कि निकाय चुनाव के ऐन दौरान भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री संजय कुमार के यौन उत्पीड़न और काले चिट्ठे खुलने के बाद चुनाव से पहले जहाँ पूर्व प्रचारकों ने संघ प्रमुख डॉ. भागवत जी को पत्र लिखकर जताई थी वहीं 16 दिसम्बर को एक बार फिर प्रदेशभर के नाराज प्रचारकों की बैठक का भी कार्यक्रम हरिद्वार में रखा गया था इसके बाद मामले पर सरकार की तरफ से उच्च शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत ने भी अपना पक्ष रखते हुए इसका समाधान निकालने की बात कही थी। 




See More

 
Top