बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सीट बंटवारे को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इसी कड़ी में केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने यहां शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी का गठबंधन लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से है. उन्होंने स्पष्ट कहा कि जद (यू) से उनका गठबंधन अभी तक नहीं हुआ है.

पटना में एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, “बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे के मुद्दे पर रालोसपा के खिलाफ अपनाए जा रहे रवैये से हम दुखी हैं.”

उन्होंने कहा, “राजग में सीट बंटवारे पर अंतिम निर्णय बिना मुझ से बातचीत किए नहीं लिया जा सकता. रालोसपा उस समय से राजग में हैं, जब नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया गया था. आज तो पार्टी की क्षमता बढ़ी है.”

कुशवाहा ने कहा कि उन्हें दो क्या तीन सीटें भी मंजूर नहीं. उनकी पार्टी की ताकत बढ़ी है, इसलिए सीटों को संख्या ज्यादा होनी चाहिए.

कुशवाहा ने कहा कि वे रविवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात कर अपना पक्ष रखेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि अगर उनकी मुलाकात शाह से नहीं होती है तो वे अपनी बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर रखेंगे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा एक कार्यक्रम में ‘नीच’ जैसे शब्द का प्रयोग किए जाने से आहत केंद्रीय मंत्री ने कहा, “नीतीश कुमार के नीच वाले बयान से मैं दुखी हूं.”

कुशवाहा ने 28 नवंबर को ‘ऊंच-नीच दिवस’ मनाने का भी घोषणा की है.

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के राजनीति कैरियर पर अपनी राय रखते हुए उन्होंने कहा कि लालू यादव अब इतिहास की बात हैं, जबकि उनके पुत्र तेजस्वी राजनीति में अभी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं.

बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं. भाजपा और जद (यू) ने बराबर सीटों पर लड़ने की घोषणा की है, हालांकि संख्या नहीं बताई गई है. बिहार राजग में जद (यू) के अलावा लोजपा और रालोसपा भी शामिल हैं.





See More

 
Top