बुधवार को केदार के बाद हर्सिल जा सकते हैं पीएम

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

देहरादून : थलसेना प्रमुख बिपिन रावत दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को उत्तराखंड के भारत-चीन सीमा के सटे नेलांग सेन्य क्षेत्र में सेना और आइटीबीपी के जवानों को दीपावली की बधाई दी और कठिन परिस्थितियों में देश की रक्षा करने के लिए उनकी हौसला अफजाई की। इस दौरान जनरल रावत ने सीमा की अंतिम चौकियों का हवाई निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली और शाम को गंगोत्री धाम माँ गंगा के मंदिर में पहुंचकर दर्शन किए।

सेना प्रमुख बिपिन रावत सुबह साढ़े आठ बजे नेलांग पहुंचे। करीब 13 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित नेलांग में महार रेजीमेंट व आइटीबीपी के अधिकारियों के साथ ही जवानों के बीच उन्होंने दो घंटे बिताए। इस दौरान उन्होंने इन सभी को दीपावली की बधाई दी और विपरीत परिस्थितियों में देश की रक्षा के लिए सीमा पर तैनात रहने के लिए उत्साहवर्धन किया। सेना प्रमुख ने अधिकारियों से नेलांग घाटी में सेना और आइटीबीपी की चौकियों के बारे में भी जानकारी ली। इसके बाद सीमा की चौकियों का हवाई निरीक्षण किया।

दोपहर वे हर्षिल स्थित आर्मी कैंप में पहुंचे। यहां उन्होंने अधिकारियों से सुरक्षा संबंधी जानकारी ली और दिशा-निर्देश दिए। अपराह्न साढ़े तीन बजे उन्होंने गंगोत्री धाम पहुंचकर दर्शन किए। सेना प्रमुख रात्रि विश्राम हर्षिल में करेंगे।

वहीं सेना प्रमुख बिपिन रावत के दो दिवसीय उत्तरकाशी दौरे को देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं कि दीपावली वाले दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी सीमा पर जवानों के बीच आ सकते हैं। हालांकि अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।





See More

 
Top