मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार शाम को पांच बजे प्रचार थम जाएगा. चुनाव को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है. केंद्रीय सुरक्षाबलों की 650 कंपनियां तैनात की गई है, वहीं सुरक्षा के लिए हेलिकॉप्टर का भी सहारा लिया जा रहा है.

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, विधानसभा चुनाव के लिए 28 नवंबर को होने वाले मतदान समाप्ति के 48 घंटे पहले यानी 26 नवंबर की शाम पांच बजे चुनाव प्रचार थम जाएगा. इसके बाद राजनीतिक दल केवल डोर टू डोर प्रचार कर सकेंगे. लाउडस्पीकर अथवा किसी भी प्रकार के ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा .

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, चुनाव में कानून एवं शांति व्यवस्था के लिए और शांतिपूर्ण मतदान के उद्देश्य से केंद्रीय सुरक्षाबलों की 650 कंपनियां तैनात की गई हैं. इसके साथ ही प्रदेश के बाहर से आए 33 हजार होमगार्ड भी निर्वाचन ड्यूटी में तैनात किए जाएंगे।

बालाघाट जिले में केंद्रीय सुरक्षाबलों की 76 कंपनियां, भिंड में 24, छिंदवाड़ा और मुरैना में 19-19, सागर और भोपाल में 18-18 कंपनियां तैनात की गई हैं. प्रदेश के 85 प्रतिशत पुलिस बल और होमगार्ड के 90 प्रतिशत बल चुनाव कार्य में तैनात किए गए हैं.

सुरक्षा व्यवस्था के लिये बालाघाट, मंडला और भोपाल में एक-एक हेलीकॉप्टर तैनात रहेंगे. संचार व्यवस्था बेहतर करने के लिए 20 सेटेलाइट फोन एवं 28 हजार वायरलेस सेट चुनाव में उपयोग किए जा रहे हैं.





See More

 
Top