देहरादून : भाजपा महिला कार्यकर्ता द्वारा महामंत्री संगठन संजय कुनार पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने के बाद जैसे मानों भूचाल पैदा हो गया था. संगठन से लेकर विपक्षी पार्टी और आम जनता सकते में आ गयी थी. जिसके बाद संगठन ने जल्द बैठक कर संजय कुमार को पद से हटाया. जनता भी सोच में है कि हमारे राज्य की बागडोर ऐसा लोगों के हाथों में है जो महिला सुरक्षा की बड़ी-बड़ी तो बातें करते हैं लेकिन खुद उनके संगठन के लोग महिलाओं का यौन उत्पीड़न कर रहे हैं.

क्या संजय कुमार के लिए दलाली करती थी भाजपा महिला पदाधिकारी???

ऊपर से महानगर अध्यक्ष की भद्दी बातें जो की खुद पीड़िता कार्यकर्ता ने रिकॉर्ड की वो भी लोगों को हैरान कर रही है. उससे भी ज्यादा हैरानी इस बात की है कि एक महिला महिला के साथ कैसे ऐसा व्यवहार कर सकती है. जी हां भाजपा की बहुत बड़ी महिला पदाधिकारी पद पीड़िता महिला ने फोन छीनने का आरोप लगाया है. तो बड़ा सवाल दिमाग में यही है कि क्या संजय कुमार के लिए दलाली करती थी जो कमरे तक पहुंचाने का काम करती थी. कार्यकर्ताओं को फुसलाकर उन तक पहुंचाती थी.

सबसे बड़ा सवाल- महिला पदाधिकारी ने क्यों छीना फोन, क्या वो दलाल है???

मीड़िता भाजपा कार्यकर्ता का फोन भाजपा पदाधिकारी द्वारा छीनने का खुलासा होने के बाद सबसे बड़ा सवाल ये उठ रहा है कि क्या भाजपा की महिला पदाधिकारी संगठन महामंत्री की दलाल थी??? बड़ा सवाल ये भी है कि क्या पीड़िता भाजपा की महिला कार्यकर्ता का फोन छीनने वाली भाजपा महिला पदाधिकारी गलत काम दूसरी महिलाओं से कराती??? क्या भाजपा महिला पदाधिकारी किसी की दलाल थी जो महिलाओं को यहां से वहां करती थी??? वरना फोन छीनने का क्या मतलब है. पीड़िता से फोन छीनने का वाक्या खुद बा खुद बहुत से सवालों का जवाब दे रहा है…कि आखिर चल क्या रहा है और हो क्या रहा है.

संगठन को करनी चाहिए मामले की निष्पक्ष जांच

राजनीति के मैदान से लेकर पूरे राज्य में तहलका मचाने वाले इस मामले में जवाब कई सवालों का चाहिए…जिसके लिए संगठन को इस मामले की निष्पक्ष जांच करानी चाहिए. और ऐसे कितने चेहरे पार्टी में मौजूद हैं उनको भी बाहर लाकर पद से हटा देना चाहिए औऱ कड़ी कार्रवाही होनी चाहिए.

देहरादून : यौन उत्पीड़न मामले में भाजपा की बड़ी महिला पदाधिकारी पर गिर सकती है गाज़





See More

 
Top