जिला मुख्यालयों में केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून। नोटबंदी की दूसरी बरसी पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्वान पर सभी जिला मुख्यालयों में केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन एवं पुतला दहन कार्यक्रम आयोजित किये गये। इसी कार्यक्रम के तहत प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय देहरादून में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी की दूसरी बरसी पर विरोध प्रदर्शन करते हुए केन्द्र की मोदी सरकार का पुतला दहन किया।  
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत कांग्रेसजनों ने प्रदेश कार्यालय में एकत्र होकर नारेबाजी करते हुए ऐस्लेहाॅल पहुंचकर मोदी सरकार के पुतले को आग के हवाले किया। इस अवसर पर कांग्रेसजनों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार इस तुगलकी फरमान के बाद आम जनता के साथ-साथ संसद के प्रति जबाबदेही से बचते रहे। नोटबन्दी के कारण पूरे देश में लम्बे समय से बैंक की पंक्ति खड़े होने के उपरान्त पैसे न मिलने के कारण 165 लोगों की मृत्यु हो गई थी। कुछ लोग पैसे के अभाव के कारण बच्चों की शादी में व्यवधान उत्पन्न होने एवं अन्य कारणों से अपनी जान गंवा बैठे थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संसद में दो शब्द संवेदना के बोलना भी उचित नहीं समझा था। कांग्रेस पार्टी नोटबंदी की इस त्रासदी में मारे गये लोगों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करती है। कांग्रेस पार्टी सदैव गरीब, मजदूर एवं किसानों की हितैशी रही है। समाज के अंतिम छोर पर बैठे हुए व्यक्ति के साथ-साथ समाज के हर वर्ग के हितों की रक्षा के लिए सदैव तत्पर रही है।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने जहां एक ओर यू.पी.ए. सरकार का नेतृत्व करते हुए देष के किसानों का लगभग 70 हजार करोड़ रूपये का ऋण माफ कर देश के किसानों को बडी राहत पहुंचाने का काम किया वहीं पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी ने संसद से सड़क तक किसानों के हक की लड़ाई लड़ते हुए केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा लाये गये भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ आवाज उठाकर किसानों के हितों की मजबूत पैरवी की तथा उनको उनका हक दिलाने का काम किया। कहा कि आज देश में मंहगाई अपने चरम पर है। भाजपा शासित प्रदेषों में भ्रष्टाचार का बोलबाता है तथा राज्यों की कानून व्यवस्था पूर्ण रूप से ध्वस्त हो चुकी है। कांग्रेस पार्टी नोटबंदी व जीएसटी की मार झेल रहे आम आदमी व व्यापारी वर्ग के साथ खड़ी रही। नोटबंदी के कारण देश के कई उद्योग व्यापार चैपट हो गये तथा इन उद्योगों से रोजी-रोटी कमाने वालों  को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा। कांग्रेस पार्टी सदैव उनकी लड़ाई सड़क से लेकर संसद तक लड़ती रही तथा लड़ती रहेगी।
इस अवसर पर पूर्व मंत्री मातवर सिंह कण्डारी, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, पूर्व विधायक राजकुमार, अनुशासन समिति प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह, प्रभु लाल बहुगुणा, महानगर अध्यक्ष लाल चंद शर्मा, मुख्य कार्यक्रम समन्वयक राजेन्द्र शाह, पूर्व मंत्री अजय सिंह, राजेश शर्मा, सचिव राजेश पाण्डे, भरत शर्मा, नजमा खान, प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी, राजेश चमोली, रागेश रतूडी, संजीव बंसल, सूरत सिंह नेगी, महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलेश रमन, आशा टम्टा, अश्विनी बहुगुणा, परिणीता बडोनी, मंजू तोमर, धर्म सिंह पंवार, महेश जोशी, संजय भट्ट, मोहन काला, मनमोहन शर्मा,शलेन्द्र शेखर करगेती, रीना सिंघल, सुधीर कुमार सुनहेरा, आदर्श सूद, रेणु नेगी, जेबा खान, गुच्छन, राजीव प्रजापति, प्रवीण त्यागी, नीरज त्यागी, सुभाष थापा, हुसैन अहमद, सुनील बांगा, मुकुल बिष्ट, प्रवीण गुप्ता आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top