नैनीताल : कोसी बैराज के पास स्कॉर्पियो में सवार महिलाओं की दबंगई देखने को मिली. वाहन हटाने को लेकर हुए सिपाही से बहस में महिलाओं ने जमकर हंगामा किया। एक तरफ उनके वाहन ने यातायात नियमों को तोड़ा ही वहीं दूसरी ओर पुलिस कर्मियों के टोकने पर दबंगई पर उतर आईं।

सिपाही को अपने कपड़े फाड़कर फंसाने की चेतावनी

महिलाओं ने वहां पर तैनात सिपाही को अपने कपड़े फाड़कर फंसाने की चेतावनी तक दे डाली। महिलाएं पुलिस को उप्र के ब्लॉक प्रमुख का वाहन होने की बात कहते हुए अपनी हेकड़ी दिखाती रही। इसके बाद पहुंची महिला पुलिस उन्हें कोतवाली ले आई। जहां माफी मांगने व चालान करने पर उन्हें छोड़ा गया।

चालक की लापरवाही से सिपाही के पैर में लगी चोट 

दरअसल गुरुवार को कोसी बैराज के समीप ट्रेफिक पुलिस ड्यूटी पर थी। इस दौरान एक स्कॉर्पियो चालक लाइन से हटकर आगे वाहन बढ़ाने लगा। सिपाही संतोष सिंह ने उसे रोकने का प्रयास किया। इसी बीच चालक की लापरवाही से सिपाही के पैर में चोट लग गई। किसी तरह वाहन रुकवाया तो चालक सिपाही से ही उलझ गया। वाहन में तीन महिलाएं समेत छह लोग सवार थे।

वाहन में सवार तीन महिलाएं नीचे उतरकर दारोगा से उलझने लगी

सूचना पर एसआइ चेतन रावत और विपिन जोशी मौके पर पहुंच गए। वाहन में सवार तीन महिलाएं नीचे उतरकर दारोगा से उलझने लगी। उल्टा सिपाही पर बदतमीजी का आरोप लगाते हुए कार्रवाई किए जाने पर अपने कपड़े फाड़कर फंसाने की धमकी देने लगी। काफी देर तक हंगामा होता रहा। तभी कोतवाली से महिला दारोगा को बुलाकर सभी लोगों को कोतवाली लाया गया। कार्रवाई किए जाने पर वह माफी मांगने लगे।

एसआइ रावत ने बताया कि फरीदपुर ठाकुरद्वारा उप्र निवासी सतेंद्र का तेजी से वाहन चलाने के आरोप में एक हजार रुपये का चालान काटा गया। इसके बाद उन्हें जाने दिया गया।





See More

 
Top