बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के पकड़ीदयाल थाना क्षेत्र में बुधवार की रात अज्ञात अपराधियों ने राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के एक नेता की गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गए. इस घटना पर केंद्रीय मंत्री और रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कथित सुशासन पर कटाक्ष करते हुए पूछा है कि आखिर रालोसपा के कितने साथियों की बलि चाहिए.

पुलिस के अनुसार, “मझाड गांव निवासी और कुशवाहा अस्पताल के संचालक प्रेमचन्द्र कुशवाहा रात अपने घर जा रहे थे, तभी सिरहा रोड के चोरमा गांव के पास बाइक पर सवार अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी.”

गोली लगने से घायल हुए कुशवाहा को गंभीर स्थिति में स्थानीय रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी गंभीर स्थिति देखते हुए चिकित्सकों ने उन्हें मोतिहारी रेफर कर दिया, मोतिहारी लाने के क्रम में रास्ते में ही उनकी मौत हो गई.

मृतक रालोसपा के पकड़ीदयाल प्रखंड अध्यक्ष थे. रालोसपा के नेता की हत्या के बाद केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “अत्यंत ही दु:खद. मुख्यमंत्री जी, आखिर रालोसपा के और कितने साथियों की बलि चाहिए, सुशासन की गरिमा को बनाए रखने के लिए?”

इधर, घटना से आक्रोशित लोग अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर गुरुवार को सड़क पर उतर गए और पकड़ीदयाल के नेहरू चौक पर सड़क जाम कर प्रदर्शन किया. बाद में जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के आश्वासन के बाद लोग सड़क से हटे. इस दौरान बाजार भी बंद हैं.

पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारी रमन कुमार ने कहा, “नियम के तहत मृतक के परिवारों को सरकार द्वारा उचित मदद दी जाएगी. पुलिस मामले की जांच कर रही है, जो भी दोषी होंगे उन्हें सजा दिलाई जाएगी.”

पकड़ीदयाल के पुलिस उपाधीक्षक डी़ क़े पांडेय ने गुरुवार को बताया, “पुलिस बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है. प्रथम दृष्टया भूमि विवाद के कारण हत्या की बात सामने आई है, पुलिस मामले की जांच कर रही है.”





See More

 
Top