देहरादून : घर के बाद माता-पिता बच्चों के लिए सबसे सुरक्षित औऱ महफूज जगह स्कूल को मानते हैं जहां बच्चा ज्ञान की बातों से लेकर दुनिया की तमाम अनुभवों को सीखता है. लेकिन देहरादून के दून इंटरनेशनल स्कूल में ऐसी शर्मनाक वाक्या हुआ जिससे अब हर परिजन अपने बच्चों को स्कूलों के किसी भी प्रतियोगिता में भाग लेने खासकर दौड़ में प्रतिभाग कराने से पहले 100 बार सोचेगा.

दून इंटरनेशनल स्कूल के एडमिन इंचार्ज के खिलाफ मुकदमा

दरअसल प्रेमनगर थाने में दून इंटरनेशनल स्कूल के एडमिन इंचार्ज के खिलाफ संजीव गुप्ता पुत्र ओम प्रकाश गुप्ता निवासी कृष्णा विहार रामपुर उत्तर प्रदेश ने मुकदमा दर्ज कराया. जिसके बाद पुलिस लगाए गए आरोपों की छानबीन करने में जुट गई है.

बच्चों के पीछे जर्मन शेफर्ड डॉग दौड़ए-शिकायतकर्ता

जी हां शिकायतकर्ता ने प्रेमनगर थाने में शिकायत लिखवाई कि उनका बेटा अभिषेक गुप्ता दून इंटरनेशनल स्कूल, प्रेम नगर में पढ़ता है. जहां 23 नवंबर की सुबह स्कूल में मैराथन का आयोजन किया गया था, जिसमें स्कूल के एडमिन इंचार्ज कर्नल आर एस सिद्धू ने दौड़ के दौरान बच्चों को जबरन तेज दौड़ाने का दबाव बनाया साथ ही बच्चों के पीछे जर्मन शेफर्ड डॉग दौड़ए.

बच्चों के साथ की मारपीट और गाली गलौज

शिकायतकर्ता ने बताया कि जब बच्चों ने इंचार्ज से कहा कि उनसे तेज नहीं दौड़ा जा सकता तो कर्नल आर.एस सिद्धू ने बच्चों के साथ मारपीट और गाली गलौज की गई। बच्चों ने यह बात अपने पेरेंट्स को बताई, जिस पर पेरेंट्स यहां पहुंचे और जिसमें से संजीव गुप्ता, पंकज तोमर पुत्र वीर सिंह निवासी एमडीडीए कॉलोनी देहरादून, गिरीश चंद्र पुत्र ईश्वर दत्त विवेक विहार हरबर्टपुर द्वारा भी अपने बच्चों के साथ हुई पिटाई के संबंध में मेडिकल कराया गया. साथ ही थाने पर प्रार्थना पत्र दिया गया।

वहीं प्रथम दृष्टया पुलिस की जांच के उपरांत मामला सही पाया गया. शिकायतकर्ता संजीव गुप्ता की तहरीर के आधार पर थाना प्रेमनगर पर मुकदमा अपराध संख्या 225/18 धारा 323/ 504/ 506 भादवि के तहत बनाम कर्नल आर0एस0 सिद्धू पंजीकृत किया गया. साथ ही टीम गठित कर गहनता से विवेचना शुरु की गई। स्कूल में छात्रों के बयान लिए गए हैं और साथ ही छात्रों को आई चोटों का, स्कूल का निरीक्षण भी किया गया. जांच के बाद आगे की कार्रवाही की जाएगी.





See More

 
Top