मंगलवार को बिहार की पूर्व मंत्री और अवैध हथियार मामले की आरोपी फरार चल रही मंजू वर्मा बेगूसराय के एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया. बेगूसराय के पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार ने बताया कि आर्म्स एक्ट मामले की आरोपी मंजू वर्मा ने बेगूसराय जिले के मंझौल न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया. उन्होंने दावा किया कि पुलिस की दबिश के कारण वर्मा को आत्मसमर्पण करना पड़ा.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक राज्य की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा तीन व्यक्तियों के साथ बुर्का पहने अदालत में पहुंची और आत्मसमर्पण कर दिया.

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मुजफ्फरपुर आश्रयगृह में नाबालिग लड़कियों के यौन शोषण मामले में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पटना स्थित आवास और बेगूसराय में उनके ससुराल वालों के घर पर छोपमारी की थी. अर्जुन टोला गांव में वर्मा के ससुराल वालों के घर से 50 गोलियां बरामद की गई थी. इसके बाद वर्मा और उनके पति चंद्रशेखर वर्मा के खिलाफ 18 अगस्त को बेगूसराय के चेरिया बरियारपुर थाना में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

आरोप है कि यौन शोषण मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और वर्मा के पति के बीच मधुर संबंध हैं. इस मामले के प्रकाश में आने के बाद मंजू वर्मा को समाज कल्याण मंत्री के पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

पिछले दिनों पटना उच्च न्यायालय ने मंजू वर्मा की अग्रिम जमानत की याचिका खारिज कर दी थी. इस मामले में अदालत के आदेश के बाद उनकी संपत्ति की कुर्की-जब्ती की भी कार्रवाई चल रही थी.





See More

 
Top