पठानकोट के जालंधर में पुलिस ने चार संदिग्धों को हिरासत में लिया है. ये चारों हिमाचल की एक स्कॉर्पियो में सवार थे. उन्होंने सेना की वर्दी पहनी हुई थी. इस संबंध में स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और चेकिंग के बाद चारों को हिरासत में ले लिया गया. उनसे पूछताछ की जा रही है.

पंजाब में पुलिस हाई अलर्ट पर है. कुछ दिन पूर्व सैन्य प्रमुख बिपिन रावत ने भी पंजाब में आतंकी गतिविधियां बढ़ने की आशंका जताई थी. इसके बाद सुरक्षा और कड़ी कर दी गई थी. पुलिस व सुरक्षा बल लगातार सुरक्षा अभियान चला रहे है. कार के चार संदिग्धों को हिरासत में लिया जाना पुलिस की बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है. पूछताछ में उनसे बड़ा खुलासा होने की संभावना है.

जालंधर में थाना मकसूदां में धमाके के मुख्य आरोपी जाकिर मूसा को भी पुलिस नशा तस्करी से जोड़कर जांच करने में जुटी हुई है. सूत्रों के मुताबिक मूसा ने भी पहले नशा तस्करों से हाथ मिलाया और तस्करी कर पैसे इकट्ठे किए. मूसा ने हथियार खरीदने के बाद जालंधर स्थित थाना मकसूदां में धमाका करवा दिया. पुलिस अधिकारियों का यह भी मानना है कि आतंकियों का नशा तस्करों के साथ हाथ मिलाने के बाद ही उनके पास हथियार खरीदने के लिए काफी पैसे आ गए है.

देश का माहौल बिगाड़ने के लिए कश्मीरी आतंकियों ने पंजाब के तस्करों से हाथ मिला लिया है. कश्मीरी आतंकियों ने पाकिस्तान से हेरोइन की तस्करी भी शुरू कर दी है.

पाकिस्तान से हेरोइन लाने के बाद आतंकी पंजाब के नशा तस्करों को बेच देते हैं और उन पैसों से हथियार खरीदते हैं, ताकि पंजाब व अन्य राज्यों में माहौल खराब हो सके. इसका खुलासा तब हुआ जब नवंबर के पहले सप्ताह में डीआरआइ और सेना ने मिलकर जम्मू-कश्मीर के बॉर्डर अखनूर के नजदीक छापेमारी कर आतंकियों को गिरफ्तार किया था. छापेमारी के दौरान उनके कब्जे से भारी संख्या में हथियार और 105 करोड़ की हेरोइन बरामद हुई थी, जिसके बाद सेना के अधिकारियों ने भी माना था कि कश्मीरी आतंकियों ने नशा तस्करों के साथ-हाथ मिला लिया है.





See More

 
Top