• सेना में जाने वाले छात्र को प्रशिक्षण हेतु आर्थिक सहायता होगी उपलब्ध
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
हरिद्वार । राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने शनिवार को देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार में शौर्य दीवार का अनावरण किया। इस अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि शौर्य दीवार की स्थापना से विद्यार्थियों में देश प्रेम की भावना बलवती होगी। उन्होने कहा कि उत्तराखण्ड वीर भूमि है। 
कोई भी राष्ट्र और समाज अपने नागरिको के समर्पण, त्याग, बलिदान और शौर्य से ही आगे बढता है। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि शहीदो को सिर्फ नमन नही करना है वरन आगे बढकर उनके परिवार की सहायता भी करनी है। राज्यपाल ने समाज में नशे की बढती प्रवृत्ति पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि नशा उन्मूलन के लिए व्यापक जन जागरूकता अभियान चलाना होगा। उत्तराखण्ड की सामाजिक आर्थिक व्यवस्था मे महिलाओ की भूमिका महत्वपूर्ण है। 
उन्होंने कहा यह खुशी की बात है कि अब गांवों में महिलाएं स्वयं सहायता समूहो के माध्यम से अपनी आय बढा रही है। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री धनसिंह रावत ने कहा है कि विद्या वीरता अभिायान के अन्र्तगत प्रदेश के सभी डिग्री कालेजो और विश्वविद्यालयो में शौर्य दीवारें निर्मित की जा रही हैं जिसमें वीरता पुरस्कार प्राप्त वीर शहीद सैनिको के चित्र लगाये गयेे है।
विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डा0 प्रणव पंड्या ने कहा कि उनके विश्वविद्यालय का जो भी छात्र सेना में जाना चाहेगा वो उसके प्रशिक्षण हेतु आर्थिक सहायता उपलब्ध करायेंगे। कार्यक्रम में विश्वद्यिालय के कुलपति शरद पारधी, प्रति कुलपति डा0 चिन्मय पण्ड्या, कुल सचिव संदीप कुमार सहित बडी संख्या में गणमान्य अतिथि और विद्यार्थी उपस्थित थे।




See More

 
Top