शनिवार को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार तीसरे दिन गिरावट दर्ज की गई. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में पिछले एक महीने से ज्यादा समय में करीब 20 फीसदी की गिरावट आई है. ब्रेंट क्रूड का भाव 70 डॉलर प्रति बैरल से नीचे आ गया है.

कच्चे तेल के दाम में आई गिरावट के कारण भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में एक दिन की स्थिरता के बाद फिर कटौती का सिलसिला जारी है. दिवाली के दिन बुधवार को पेट्रोल का दाम छह दिनों तक लगातार गिरावट के बाद स्थिर रहा. डीजल के भाव में भी दिवाली से पहले पांच दिनों तक लगातार कटौती दर्ज की गई.

दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में पेट्रोल के दाम में शनिवार को 17 पैसे प्रति लीटर की कटौती दर्ज की गई. वहीं चेन्नई में पेट्रोल के दाम में 18 पैसे प्रति लीटर की कमी आई.

दिल्ली और कोलकाता में डीजल के भाव में 16 पैसे प्रति लीटर की कमी दर्ज की गई जबकि मुंबई और चेन्नई में डीजल का दाम 17 पैसे प्रति लीटर घटा.

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में शनिवार को पेट्रोल के दाम क्रमश: 77.89 रुपये, 79.81 रुपये, 83.40 रुपये और 80.90 रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए.

चारों महानगरों में डीजल क्रमश: 72.58 रुपये, 74.44 रुपये, 76.05 रुपये और 76.72 रुपये प्रति लीटर था.

घरेलू वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चे तेल का नवंबर वायदा अनुबंध शुक्रवार को पिछले सत्र के मुकाबले 68 रुपये यानी 1.53 फीसदी की गिरावट के साथ 4,363 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुआ.

इससे पहले कारोबारी सप्ताह के अंतिम सत्र में कच्चे तेल का भाव 4,300 रुपये के मनोवैज्ञानिक स्तर से लुढ़ककर 4,297 रुपये प्रति बैरल तक आ गया. करीब एक महीने में एमसीएक्स पर कच्चे तेल का भाव करीब 1,300 रुपये प्रति बैरल लुढ़का है.

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) ब्रेंट क्रूड का जनवरी अनुबंध 1.01 डॉलर यानी 1.34 फीसदी की गिरावट के साथ 70 डॉलर के मनोवैज्ञानिक स्तर से फिसलकर 69.64 डॉलर प्रति बैरल पर बंद थाए जबकि कारोबार के दौरान निचला स्तर 69.15 डॉलर रहा. तीन और चार अक्टूबर को ब्रेंट क्रूड का भाव 86 डॉलर प्रति बैरल से उपर चला गया था.

वहीं, न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज यानी नायमैक्स पर अमेरिकी लाइट क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट यानी डब्ल्यूटीआई का दिसंबर डिलीवरी अनुबंध में 1.37 फीसदी की कमजोरी के साथ 60 डॉलर के मनोवैज्ञानिक स्तर से लुढ़ककर 59.84 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ. डब्ल्यटीआई का भाव भी एक महीने कुछ पहले 76 डॉलर प्रति बैरल से उपर चला गया था.





See More

 
Top