देहरादून : उत्तराखंड पुलिस को यूं ही मित्र पुलिस नहीं कहते…कुछ पुलिस जवानों के कामों को देखकर ये कहा जा सकता है कि हर कोई पुलिस वाले एक जैसा नहीं होते. बल्कि कुछ ऐसे पुलिस वाले भी हैं जिन्होंने सच में उत्तराखंड मित्र पुलिस के नाम को अपने कामों से सही साबित किया है.

लक्ष्मण चौक पर शराबी का हंगामा

दरअसल लक्ष्मण चौक पर रात के 11 बजे थे एक शराबी डेढ़ घंटे से मोहल्ले में गाली-गलौच कर रहा था। सभी त्रस्त थे पर सब घरों में दुबके थे। शराबी खूब हल्ला-शोर शराबा कर रहा था. सोचिए अगर ऐसे में पुलिस आ जाए तो आप यहीं सोचेंगे ना कि पुलिस ने शराबी के कान के नीचे दो लगाए होंगे. लेकिन यहां बिल्कुल उल्टा हुआ.

लोगों ने दी पुलिस को सूचना

दरअसल जब पानी नाक से ऊपर चला गया तो देहरादून स्थित लक्ष्मण चौक पुलिस चौकी (कोतवाली नगर) को सूचना दी और पुलिसकर्मी तेज सिंह और तेग सिंह अपनी चीता मोटरसाइकिल पर आ पहुंचे। दोनों पुलिसकर्मियों से शराबी ने जमकर बदतमीज़ी की लेकिन ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने धैय बनाया रखा औऱ शराबी को समझाया।

शराबी को सम्भालना हुआ मुश्किल, पुलिसकर्मियों ने दिया मानवता का अनूठा परिचय

इस दौरान शराबी को सम्भालना मुश्किल था लेकिन नशे में चूर शराबी ने आत्महत्या तक की कोशिश की. लेकिन पुलिसकर्मियों ने मानवता का अनूठा परिचय दिया और बिना बल उपयोग करे किसी प्रकार इस शराबी को चौकी ले आये। ठंड से ठिठुर रहे शराबी को कम्बल दिया और किसी बीमार की भांति उसे सांत्वना दी। शायद घर से इस शराबी को निकाल दिया गया है और अब सड़के ही इसका आश्रय है।

जीवन बेहद कीमती है इसे ऐसे न गवाएं 

ऐसे धैय और आम जनता को सम्मान की नजरों से देखकर उसे सम्ममान देने के लिए हम उत्तराखंड पुलिस को सलाम करते हैं औऱ जनता को शराब का सेवन न करने की सलाह देेते है. क्योंकि ये जीवन बेहद कीमती है इसे ऐसे न गवाएं.

दीपिका रावत





See More

 
Top