हल्द्वानी : उत्तराखण्ड के राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने कहा है की अगले 5 सालो के अंदर उत्तराखण्ड को सशक्त बनाना उनकी प्राथमिकता है, भले ही राज्य को बने हुए आज 18 साल पूरे हो गए हो लेकिन इतने समय मे पलायन राज्य के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन चुका है. लिहाज़ा रिवर्स माइग्रेशन के लिए रोड मैप तैयार करना सबसे बड़ी प्राथमिकता है.

उन्होंने कहा की इस वक़्त राज्य रोज़गार और स्वास्थ्य जैसी समस्याओं से जूझ रहा है जिससे लोग पलायन को मजबूर हो चुके हैं, जिसकी पीड़ा को समझते हुए वे ऐसे प्रोजेक्ट तैयार कर रहे हैं की अगले 5 सालों के भीतर उत्तराखण्ड का कोई भी मरीज राज्य से बाहर के अस्पतालों का रुख नहीं करेगा और राज्य के अस्पतालों में दिल्ली जैसे इलाज़ देने की सुविधाओं का इंतजाम किया जा रहा है.

राज्य में 18 नवम्बर को होने वाले निकाय चुनावों पर बोलते हुए बलूनी ने कहा की बीजेपी जीत की ओर अग्रसर हो रही है, केंद्र, और राज्य सरकार के बाद उत्तराखण्ड के हर नगर में भी बीजेपी की सरकार बनेगी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top