देहरादून : कठिन परिश्रम के बाद शनिवार को भारतीय सैन्य अकादमी में अंतिम पग भरते ही 347 युवा भारतीय सेना का हिस्सा बने। इसी के साथ 80 विदेशी कैडेट भी पास आउट हुए। भारतीय उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज एन्बु ने परेड की सलामी ली। आपको बता दें सुबह 08 बजकर 55  मिनट पर मार्कर्स कॉल के साथ परेड का आगाज हुआ।

हेलीकाप्टरों के जरिए सैन्य अफसरों पर की गयी फूलों की बारिश

युवा सैन्य अधिकारियों अंतिम पग भरने के दौरान आसमान से हेलीकाप्टरों के जरिए उन पर फूलों की बारिश की गयी. इस दौरान कमाडेंट ले जनरल एसके झा, डिप्टी कमान्डेंट मेजर जनरल जेएस नेहरा सहित कई वरिष्ठ सैन्य अधिकारी व सेवानिवृत्त अधिकारी मौजूद रहे।

इन्हें दिए गए पदक 

उप सेना प्रमुख ने कैडेट्स को ओवरऑल बेस्ट परफारमेंस व अन्य उत्कृष्ट सम्मान से नवाजा। अर्जुन ठाकुर को स्वार्ड ऑफ ऑनर व स्वर्ण पदक प्रदान किये गए। रजत पदक गुरवीर सिंह तलवार को दिया गया। जबकि, हर्ष बंसीवाल ने सिल्वर मेडल (टीजी) हासिल किया। कांस्य पदक गुरवंश सिंह गोसाल को मिला।सर्वश्रेष्ठ विदेशी कैडेट बिशाल चंद्र वाजी चुने गए। चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर सैंगरो कंपनी को मिला।

देश के इन राज्यों से बने नए सैन्य अधिकारी-

आंध्रप्रदेश -4, असम-5, बिहार-3, चंडीगढ़-4, छत्तीसगढ़-2, दिल्ली -25, गुजरात-4 ,हरियाणा-51, हिमाचल प्रदेश-15, जम्मू कश्मीर-12, झारखंड-6, कर्नाटक-8, करेला -8, मध्यप्रदेश-10, महाराष्ट्र-20, मणिपुर-3, मेघालय -1, उड़ीसा-5, पंजाब-14, पोडिचेरी-1, राजस्थान-12, तमिलनाडु-5, तेलंगाना-5, त्रिपुरा-2, उत्तरप्रदेश-53, उत्तराखंड-26 और वेस्ट बंगाल से 8 सैन्य अधिकारी देश को मिले.

सात मित्र देशों के बनने वाले सैन्य अधिकारी

अफगानिस्तान-49, भूटान-15, मालदीप-5, नेपाल-2, श्रीलंका-2, तजाकिस्तान-5 ,वेयतनाम-2 सैन्य अधिकारी शामिल हैं.





See More

 
Top