उत्तराखंड का पड़ोसी राज्य उत्तरप्रदेश उत्तराखंड पुलिस के लिए गले की फांस बनता जा रहा है. जी हां आए दिन नशे के सौदागर नशे के सामान के साथ गिरफ्तार किए जा रहे हैं. औऱ ये सारा नशे का कारोबार उत्तरप्रदेश से हो रहा है और उत्तराखंड आकर युवाओं को बेचा जा रहा है.

जी हां उधमसिंह नगर जिले में नशे के विरूध चलाये जा रहे अभियान ने के तहत जसपुर पुलिस को एक बडी सफलता हाथ लगी हेै। पुलिस ने लाखों की स्मैक के साथ नशे के दो तस्करों को गिरफतार किया हे। दोनों आरोपी नशा तस्कर बताये जा रहे हैं। जो यूपी से लाकर उत्तराखण्ड के जसपुर सहित कई शहरों में इसे बेचा करते थे। पुलिस इस गिरोह के और सदस्यों की धड़पकड़ मे जुटी हे।

नशे का जहर घोल कर युवाओं की जिंदगी तबाह

जसपुर क्षैत्र में बीते लम्बे समय से नशे के सौदागरों द्वारा खुले रूप से युवाओं मे नशे का जहर घोल कर युवाओं की जिंदगी तबाह की जा रही थी। साथ ही नशे के इस कारोबार से खुद लाखों रूपये के वारे नियारे कर रहे थे। जिले के पुलिस निजाम कप्तान के के वीके द्वारा जिले भर में नशे के विरूध चलाये जा रहे अभियान के तहत जसपुर में भी युवाओं में तेजी से बढ़ रही नशे की लत पर लगाम लगाने के लिये पुलिस द्वारा नशे के विरूध चलाये जा रहे है. अभियान के तहत पुलिस ने अब तक यूं तो कई शराब तसकरों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया हेै.

पकड़ी लाखों की कीमत की स्मैक

वहीं आज पुलिस को बडी सफलता हाथ लगी है। कोतवाली पुलिस ने मुख्बिर की सूचना पर नशे के दो बड़े सौदागरों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये दोनों आरोपियों में से एक आरोपी जसपुर का ही रहने वाला है जब कि एक यूपी के बरेली के फतह गंज का रहने वाला है। पुलिस ने दोनों के कब्जे से दस दस ग्राम स्मैक बरामद की जिस की कीमत एक लाख रूपये से अधिक की आंकी जा रही हेै। पुलिस अभी इस गिरोह के अन्य सदस्यों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। पुलिस ने दोनों आरोपिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया हे।





See More

 
Top