देहरादून : कठिन परिश्रम के बाद शनिवार को भारतीय सैन्य अकादमी में 347 युवा भारतीय सेना का हिस्सा बने। इसी के साथ 80 विदेशी कैडेट भी पास आउट हुए। भारतीय उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज एन्बु ने परेड की सलामी ली। आपको बता दें सुबह 08 बजकर 55  मिनट पर मार्कर्स कॉल के साथ परेड का आगाज हुआ। पासिंग आउट परेड में उत्तराखंड के 26 युवा सैन्य अधिकारियों ने भी कदम से कदम मिला कर परेड की.

हल्द्वानी के माणिक सती बनें सेना में अफसर

वहीं 347 कैडेट्स में 26 युवा सैन्य अफसर उत्तराखंड के हैं जो देश की रक्षा करेंगे. पासिंग आउट परेड में उत्तराखंड के युवाओंं ने भी दमखम दिखाया. वहीं उनमे से एक है हल्द्वानी के माणिक सती. माणिक सती का कहना है कि उनकी बचपन से चाह थी की सेना मे जाकर देश की सेवा करें. माणिक ने कहा कि इन मुकाम पर आने का लक्ष्य सिर्फ देश की रक्षा करना है औऱ वो युवाओं को भी यही संदेश देंगे की सेना में आएं.

देश के इन राज्यों से बने नए सैन्य अधिकारी-

आंध्रप्रदेश -4, असम-5, बिहार-3, चंडीगढ़-4, छत्तीसगढ़-2, दिल्ली -25, गुजरात-4 ,हरियाणा-51, हिमाचल प्रदेश-15, जम्मू कश्मीर-12, झारखंड-6, कर्नाटक-8, करेला -8, मध्यप्रदेश-10, महाराष्ट्र-20, मणिपुर-3, मेघालय -1, उड़ीसा-5, पंजाब-14, पोडिचेरी-1, राजस्थान-12, तमिलनाडु-5, तेलंगाना-5, त्रिपुरा-2, उत्तरप्रदेश-53, उत्तराखंड-26 और वेस्ट बंगाल से 8 सैन्य अधिकारी देश को मिले.

सात मित्र देशों के बनने वाले सैन्य अधिकारी

अफगानिस्तान-49, भूटान-15, मालदीप-5, नेपाल-2, श्रीलंका-2, तजाकिस्तान-5 ,वेयतनाम-2 सैन्य अधिकारी शामिल हैं.

माणिक सती हल्द्वानी

एनडीए से आया हू 4 साल की मेहनत





See More

 
Top