देहरादून  : हर माता-पिता अपने बच्चों को कामयाबी की सीढ़ी चढ़ते और ऊंचे मुकाम पर देखना चाहते हैं. औऱ जब माता पिता का सपना बेटा 4 साल की कठिन परिश्रम के बाद पूरी करे और कंधे पर सितारे सजे तो खुशी के आंसू छलक ही आते हैं. जी हां देहरादून के आईएमए में आज पासिंग आउट परेड का आयोजन हुआ जिसमें अंतिम पग भरते हुए 347 नौजवान भारतीय सेना का हिस्सा बने. साथ ही 80 विदेशी कैडेट भी पास आउट हुए।

बेटे के कंधों पर सितारे सजा देख माता पिता के आखों में छलक आए आँसू 

ठीक उसके बाद सभी कैडेट्सों ने साथी अधिकारियों को गले लगाकर खुशी मनाई औऱ जमकर झूमे. वहीं इस दौरान कुछ ऐसा भी देखने को मिला जिसे देख दिल पसीज गया. जी हां 4 साल की कठिन मेहनत के बाद पास हुए और सेना में अधिकारी बने बेटे के कंधों पर स्टार सजाकर माता पिता के आखों में आँसू छलक आए. और सिर्फ माता-पिता के ही नहीं बल्की खुद मुकाम को हासिल करने और 4 साल के लम्बे इंतजार के बाद कंधे में सितारों को सजा देख खुद ही कैडेट्स के आंखों में आंसू आ गए.

कुछ सेना में सिपाही से बने अधिकारी तो कुछ गांव के युवा बने अधिकारी

साथ ही उन युवा सेना अधिकारी के भी आंखों में आंसू आए जो गरीब परिवार से है और गांव में रहते है…जिन्होंने गरीबी देखी लेकिन हार नहीं मानी. कुछ ऐसे भी युवा थे जो सेना में सिपाही के तौर पर भर्ती हुए लेकिन आज उनके कंधों में सितारे चमचमा रहे हैं. जिसे देख उनके माता-पिता औऱ खुद के आंखों में खुशी के आंसू थे. कुछ अधिकारी ऐसे भी हैं जिन्होंने पिता के कदमताल पर चलते हुए पिता की तरह अधिकारी बनने की ठानी औऱ बने भी.

इन्हें दिए गए पदक 

उप सेना प्रमुख ने कैडेट्स को ओवरऑल बेस्ट परफारमेंस व अन्य उत्कृष्ट सम्मान से नवाजा। अर्जुन ठाकुर को स्वार्ड ऑफ ऑनर व स्वर्ण पदक प्रदान किये गए। रजत पदक गुरवीर सिंह तलवार को दिया गया। जबकि, हर्ष बंसीवाल ने सिल्वर मेडल (टीजी) हासिल किया। कांस्य पदक गुरवंश सिंह गोसाल को मिला।सर्वश्रेष्ठ विदेशी कैडेट बिशाल चंद्र वाजी चुने गए। चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर सैंगरो कंपनी को मिला।

देश के इन राज्यों से बने नए सैन्य अधिकारी-

आंध्रप्रदेश -4, असम-5, बिहार-3, चंडीगढ़-4, छत्तीसगढ़-2, दिल्ली -25, गुजरात-4 ,हरियाणा-51, हिमाचल प्रदेश-15, जम्मू कश्मीर-12, झारखंड-6, कर्नाटक-8, करेला -8, मध्यप्रदेश-10, महाराष्ट्र-20, मणिपुर-3, मेघालय -1, उड़ीसा-5, पंजाब-14, पोडिचेरी-1, राजस्थान-12, तमिलनाडु-5, तेलंगाना-5, त्रिपुरा-2, उत्तरप्रदेश-53, उत्तराखंड-26 और वेस्ट बंगाल से 8 सैन्य अधिकारी देश को मिले.

सात मित्र देशों के बनने वाले सैन्य अधिकारी

अफगानिस्तान-49, भूटान-15, मालदीप-5, नेपाल-2, श्रीलंका-2, तजाकिस्तान-5 ,वेयतनाम-2 सैन्य अधिकारी शामिल हैं.





See More

 
Top