जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में तीन साल पहले छात्रों द्वारा की गई नारेबाजी की जांच पूरी हो गयी है. और आज (सोमवार) को स्पेशल सेल इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी. स्पेशल सेल ने इस संबंध में दिल्ली पुलिस कमिश्नर और अभियोजन से जरूरी निर्देश ले लिए हैं. चार्जशीट में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, सैयर उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत 10 लोगों के नाम शामिल है.

और जिन अन्य स्टूडेंट के नाम इसमें शामिल हैं, वे कश्मीर के रहने वाले हैं. और सोमवार को चार्जशीट पटियाला हाउस कोर्ट में दखिल की जा सकती है.

जांच के मुताबिक, कन्हैया ने 9 फरवरी 2016 की शाम प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व था. और जिसमें देश विरोधी नारे लगाए गए थे. पुलिस ने पाया कि जेएनयू कैंपस में ऐसी किसी भी गतिविधि के लिए ली जाने वाली अनुमति की प्रक्रिया भी पूरी नहीं की गई थी. इन प्रदर्शनकारियों को रोका गया और उन्हें बताया गया कि ऐसे किसी भी कार्यक्रम को करने के लिए उनके पास अनुमति नहीं है.

चार्जशीट में कहा गया है, ‘ऐसा होने पर कन्हैया कुमार आगे आए और सुरक्षा अधिकारी के साथ बहस करने लगे और इसके बाद भीड़ में मौजूद लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी.’





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top