डिजिटल भुगतान प्लेटफार्म फोनपे ने सोमवार को बताया कि उसका ऑफलाइन व्यापारी आधार 10 लाख हो गया है. कम्पनी के मुताबिक उसने एक वर्ष से भी कम समय में इस मील के पत्थर को हासिल किया है. कम्पनी ने अपने बयान में कहा कि देश के बड़े संगठित रिटेल स्टोर्स के साथ-साथ छोटे और मध्यम वर्गीय रिटेल स्टोर में इसकी मौजूदगी इशकी अभूतपूर्व स्वीकृति को दर्शाता है. यूपीआई क्षेत्र में अग्रणी होने के नाते फोनपे व्यापारियों को यूपीआई, क्रेडिट कार्डस, डेबिट कार्डस, फोनपे वॉलेट के साथ-साथ बाहरी वॉलेट जैसे कई उपकरणों के माध्यम से उपभोक्ताओं से भुगतान स्वीकार करने में सक्षम बनाता है.

भारत में फोनपे के ऑफलाइन संगठित व्यावसाय के प्रमुख युवराज सिंह शेखावत ने कहा, “हमारे ऑफलाइन व्यवसाय ने बमुश्किल एक वर्ष में अभूतपूर्व वृद्धि दिखाई है और हम 10 लाख अंक तक पहुंचकर अत्यधिक रोमांचित हैं. फोनपे का उपयोग करते हुए संपूर्ण भुगतान प्रक्रिया सरल, तेज और निर्बाध है जो उपभोक्ताओं के लिए एक सुविधाजनक अनुभव सुनिश्चित करता है और व्यापारियों को इसमें जबरदस्त मुनाफा दिखाई दे रहा है. हम दिसंबर 2019 तक ऑफलाइन लेनदेन को 60 लाख तक बढ़ाने की योजना बना रहे हैं.”

फोनपे ने प्रमुख मेट्रो शहरों के साथ-साथ टियर 1, 2 और 3 शहरों में ऑफलाइन व्यापार में 2018 में उल्लेखनीय वृद्धि देखी है. फोनपे द्वारा पेश किए जा रहे कई सुविधाजनक स्कीमों के कारण यह वृद्धि संभव हो गई है, जिससे व्यापारियों के लिए डिजिटल भुगतान स्वीकार करना शुरू करना आसान हो गया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top