कुमाऊं विश्वविद्यालय की ओर से पांच कक्षाओं की आठ सेमेस्टर परीक्षाओं के 5903 विद्यार्थियों के परिणाम घोषित किए जा चुके हैं. विवि ने इन सभी कक्षाओं के 157 विद्यार्थियों के परीक्षा परिणाम पर रोक लगा दी है. परिणाम रोके जाने के पीछे महाविद्यालयों का विद्यार्थियों के प्रवेश की स्थिति को अपडेट न करना और विद्यार्थियों की ओर से शुल्क जमा न किया जाना कारण बताया गया है.

कुमाऊं विवि ने इस वर्ष पूर्व में पंजीकृत विद्यार्थियों के अगले सेमेस्टर में प्रवेश की प्रक्रिया को भी ऑनलाइन कर दिया था। इस प्रक्रिया के तहत विद्यार्थियों को प्रवेश आवेदन और प्रवेश सहित अन्य शुल्कों को ऑनलाइन जमा कराना था. विद्यार्थियों के ऑनलाइन आवेदन के आधार पर कॉलेजों को प्रवेश देने के साथ ही विवि के पोर्टल में उन्हें प्रवेशित दर्शाना था लेकिन कई कॉलेजों ने विद्यार्थियों के प्रवेश की स्थिति को अपडेट नहीं किया.

वहीं कई विद्यार्थियों ऐसे भी हैं जिन्होंने विवि को ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा समेत अन्य शुल्कों को जमा नहीं कराया गया है. विवि की ओर से जारी परिणामों में बीकॉम प्रथम सेमेस्टर के 73, एमकॉम प्रथम के 18, तृतीय सेमेस्टर के 21, एमए संस्कृत प्रथम के तीन, तृतीय सेेमेस्टर के 13, अंग्रेजी प्रथम सेमेस्टर के 23, मनोविज्ञान प्रथम, तृतीय सेमेस्टर के 1-1 विद्यार्थियों के परिणामों पर रोक लगाई गई है. विवि रिकॉर्ड के मुताबिक ऐसे विद्यार्थियों की संख्या तीन हजार से अधिक हैं.

विवि की ओर से कॉलेजों और विद्यार्थियों को विभिन्न माध्यमों से सूचना दी जा चुकी है. संबंधित कॉलेजों से विद्यार्थियों की प्रवेश की स्थिति अपडेट होने, विद्यार्थी शुल्क जमा करने तक उनके परिणाम जारी नहीं किए जाएंगे. – प्रो. संजय पंत, परीक्षा नियंत्रक कुमाऊं विवि.

साभार -अमर उजाला 





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top