रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने मदुरै में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का शिलान्यास किया और तीन मेडिकल कॉलेजों में सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का भी उद्घाटन किया.

मोदी ने एम्स की आधारशिला रखने के लिए पट्टिका का अनावरण किया, जिसकी लागत 1,264 करोड़ रुपये होगी.
मदुरै में एम्स 750 बेड का अस्पताल होगा जिसमें पोस्ट ग्रेजुएट और उच्च शिक्षा और रिसर्च पर ध्यान दिया जाएगा.

इसमें 100 एमबीबीएस और 60 बीएससी (नर्सिग) सीटें होंगी. इसके अलावा, एक प्रशासनिक ब्लॉक, ऑडिटोरियम, रैन बसेरा, गेस्ट हाउस, हॉस्टल और आवासीय सुविधाएं होंगी.

समारोह में मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने कहा कि जैसे ही केंद्र ने हर राज्य में एक एम्स स्थापित करने की घोषणा की थी, दिवंगत नेता जे. जयललिता ने मोदी को पत्र लिखकर जल्द ही तमिलनाडु में एम्स स्थापित कराने का अनुरोध किया था.
एम्स के लिए मोदी का धन्यवाद करते हुए, पलनीस्वामी ने प्रधानमंत्री से रामनाथपुरम जिले में एक मेडिकल कॉलेज को मंजूरी देने का अनुरोध किया.

मोदी ने राजाजी, तंजावुर और तिरुनेलवेली मेडिकल कॉलेजों में सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ब्लॉकों का उद्घाटन करने के लिए पट्टिकाओं का भी अनावरण किया. तीनों मेडिकल कॉलेजों को अपग्रेड करने की परियोजना लागत 450 करोड़ रुपये है. केंद्र के अनुसार, ये परियोजनाएं प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना का एक हिस्सा हैं, जिसका उद्देश्य 20 एम्स स्थापित करना है, जिनमें से छह स्थापित किए जा चुके हैं और साथ ही देश भर में 73 मेडिकल कॉलेजों को अपग्रेड करना है.

मदुरै हवाई अड्डे पर राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित, पलनीस्वामी, उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम, केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने मोदी का स्वागत किया. इस बीच, एमडीएमके पार्टी के सदस्यों और कुछ अन्य संगठनों ने मोदी के विरोध में यहां काले झंडे दिखाए और काले गुब्बारे भी उड़ाए.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top