डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह व उनके तीन करीबी सहयोगियों को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत द्वारा गुरुवार को सजा सुनाए जाने से पहले पंजाब व हरियाणा के कुछ हिस्सों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

राम रहीम व उसके तीन करीबी सहयोगियों को पहले ही दोषी करार दिया जा चुका है.

सीबीआई की हरियाणा स्थित पंचकूला की अदालत गुरमीत राम रहीम व पूर्व डेरा प्रबंधक किशन लाल के साथ कुलदीप व निर्मल को सजा सुनाएगी.

अदालत ने राम रहीम व इन तीनों को पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या की साजिश रचने के लिए 11 जनवरी को दोषी करार दिया था.

सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह दोषियों को सजा सुनाएंगे.

चंडीगढ़ से लगे पंचकूला के सेक्टर एक के अदालत परिसर में सख्त चौकसी रखी जा रही है.

हरियाणा के सिरसा शहर में भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। सिरसा में डेरा का मुख्यालय स्थित है.

पंजाब पुलिस ने पड़ोसी राज्य में भी ऐहतियातन सुरक्षा कड़ी की है क्योंकि बठिंडा, मनसा व संगरूर में डेरे के लाखों अनुयायी हैं.

राम रहीम के 25 अगस्त 2017 को दोषी करार देने पर पंचकूला व सिरसा में हिंसा भड़क गई थी, जिसमें 41 लोगों की मौत हो गई थी और 260 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top