गुरुवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में कहा कि नरेंद्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने का दावा करते हुए कहा कि वर्ष 2019 में फिर से मोदी के नेतृत्व में केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की की सरकार बनेगी. उन्होंने कहा, “वर्ष 2014 में जब हम साथ में नहीं थे, तब तो भाजपा की सरकार बनी थी, अब तो हम भी साथ में हैं.”

मुख्यमंत्री सीतामढ़ी जले के डुमरा प्रखंड स्थित परमानंदपुर ग्राम में 620 करोड़ रुपये की लागत वाली परमानंदपुर पावर ग्रिड 400/200/132 केवी उपकेंद्र का शिलान्यास करते हुए कहा कि इसे पूरा करने के लिए जनवरी, 2021 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

शिलान्यास कार्यक्रम के मौके पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने सीतामढ़ी में 400 केवी के पावर ग्रिड विद्युत उपकेंद्र के शिलान्यास के लिए भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय को धन्यवाद दिया.

उन्होंने कहा कि इस प्रकार के तीन बड़े पवर ग्रिड बिहार में स्थापित करने का केंद्र सरकार ने निर्णय लिया है. उन्होंने कहा कि दो दिन बाद सहरसा में भी इस प्रकार के पावर ग्रिड का शिलान्यास कार्यक्रम है.

विद्युत के क्षेत्र में केंद्र सरकार की योजनायों को जनोपयोगी बताते हुए उन्होंने कहा कि इस दिशा में राज्य सरकार की जो योजनाएं चल रही हैं, लोग उसका पूरा लाभ उठा रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा, “नवंबर, 2005 में जब हमने न्याय के साथ विकास का काम शुरू किया, उस समय पूरे बिहार में मात्र 700 मेगावाट बिजली की आपूर्ति होती थी, जिसका परिणाम था कि गांव तो छोड़ दीजिए राजधानी पटना में भी लोगों को जरूरत के अनुरूप बिजली की उपलब्धता नहीं थी.”

मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय योजना के तहत हर घर तक पक्की गली एवं नाली का भी निर्माण कराया जा रहा है. पहले बिहार का 25 हजार से 30 हजार करोड़ रुपये वार्षिक बजट हुआ करता था, जिसका पूरा पैसा भी खर्च नहीं हो पाता था. वहीं अब इस वित्तीय वर्ष में बिहार का बजट एक लाख 80 हजार करोड़ रुपये है, जिसकी लगभग आधी धनराशि विभिन्न योजना मद में खर्च करते हैं.

उन्होंने कहा कि समाज में प्रेम, शांति, सद्भाव कायम रहेगा, तभी विकास का पूरा लाभ मिलेगा. चुनाव के नतीजों की कोई परवाह नहीं रहने की बात कहते हुए उन्होंने कहा, “जनता मालिक है. आप सब चाहेंगे तो सेवा करेंगे, नहीं चाहेंगे तो भी मेरी कोई शिकायत नहीं होगी.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top