देहरादून कोतवाली नगर थाना पुलिस ने नाबालिक लड़की से दुराचार में मुख्य आरोपी सहित एक अन्य महिला व पुरुष समेत कुल 3 आरोपियोंं को गिरफ्तार किया.
आज 15 जनवरी 2018 को थाना कोतवाली नगर देहरादून पर एक व्यक्ति द्वारा लिखित शिकायत दी कि वह करीब 10-12 साल से देहरादून में अपने परिवार के साथ रह रहा है, मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार को पाल रहा है तथा यहां किराए के मकान में रहता है। उसके मकान के पास में छन्नू का मकान है, जिसका किरायेदार सोएब निवासी शामली कल दिन में समय करीब 4:00 बजे इनकी नाबालिक पुत्री उम्र 13 वर्ष को बाहर गली से बहला फुसलाकर किसी के मकान में ले गया तथा वहां उसके द्वारा इनकी लड़की के साथ जबरदस्ती बलात्कार किया। शाम को करीब 6.30 बजे इनकी लड़की घर वापस आयी तो ये सब बात रोते हुए इनको तथा इनकी पत्नी को बताई। उसने बताया की यह घटना छबिलबाग में एक महिला मंजू पत्नी परविंदर सिंह के घर की है। इस सूचना पर तत्काल थाना कोतवाली पर अभियोग पंजीकृत किया गया तथा इसकी सूचना उच्चाधिकारीगणों को दी गयी।

उक्त मामले को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व पुलिस अधीक्षक नगर महोदया द्वारा अतिसंवेदनशीलता से लेते हुए तत्काल थाना स्तर पर टीम गठित कर अभियुक्त गणो की गिरफ्तारी व अन्य आवश्यक कार्यवाही हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गये, जिसके अनुपालन में पुलिस अधीक्षक नगर महोदया व co सिटी महोदय के निकट पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक के निर्देशन में व0उप0निरीक्षक के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। विवेचक द्वारा पीड़ित का मेडिकल व बयान लिए गए।

पीड़िता द्वारा बताया कि सोएब करीब 4 महीने से उससे जान पहचान बढ़ा रहा था, कल उसके साथ एक लड़का जिसका नाम फ़िरोज़ है, भी था, यह मुझे यह कहकर की कुछ जरूरी बात करनी है, मंजू ननकी के घर ले गया। वहाँ एक कमरे में जबतदस्ती करने लगा, मेरे शोर मचाने पर मेरा मुह दबाकर जबरदस्ती उसने मेरे साथ गलत काम किया, उसके बाद कमरे में फिरोज आया और वह भी गलत काम करने की कोशिश करने लगा पर तभी में एक दम उसको धक्का देकर वहां से भाग गई और यह सारी बात अपने पिता व माँ से बता दी। इस काम के लिए इन दोनों की मंजू ननकी ने मदद की, जिससे सोएब ने मेरे साथ गलत काम किया। उक्त बयान के आधार पर उक्त तीनों अभियुक्त गणों की तलाश प्रारम्भ की गई, इनके घरों पर दबिश दी गयी किन्तु घरों में ताले लगे पाए गए। तलाश हेतु लोकल पुलिस सूत्रों को अवगत कर लगाया गया, तभी सूचना मिली कि उक्त तीनों भागने की फिराक में है तथा कही जा रहे हैं, इस सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुए इन तीनों को विपिन चंचल वाली गली, छबिलबाग कांवली रोड, देहरादून से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई। इन तीनो को आज मान0 न्यायलय पेश कर जिला कारागार भेज दिया गया है।

नाम पता अभियुक्त गण
1- सोएब पुत्र आजाद नि0 कस्बा बनथ पो0आ0 बनथ, थाना शामली, जिला शामली, उत्तर प्रदेश।
हाल पता- गांधी ग्राम, देहरादून।
2- फ़िरोज़ पुत्र अकबर नि0 शुजड़ू गली लिकड़ापत्ति निकट मस्ज़िद थाना व जिला मु0नगर , उत्तर प्रदेश।
हाल पता-गांधी ग्राम कोतवाली नगर देहरादून।
3- मंजू ननकी पत्नी स्व0 परविंदर सिंह नि0 छबिलबाग मोहल्ला कांवली रोड, देहरादून।

अभियुक्त गण से पूछताछ पर बताया कि यह दोनों यहाँ करीब 4 वर्ष से छन्नू के मकान में किराए पर रह रहे हे, दोनों कपड़े फेरी का काम करते है, पीड़िता से करीब 4 महीने से जान पहचान बढाई थी। कल दिन में उसको यह कहकर की कुछ बात करनी है हमारी पुरानी मकान मालकिन मंजू ननकी के घर ले गया था यहाँ मंजू ननकी को कमरे के लिए 500 रुपये दिए थे, मंजू को भी पता था कि हम किस लिए वहां गए थे। सोएब ने पहले प्यार से समझाने की कोशिश की किन्तु जब यह नही मानी तो जबरदस्ती करना पड़ा, उसके बाद जब सोएब बाहर आ गया तो फ़िरोज़ भी अंदर गया लेकिन लड़की वहा से भाग गई थी, उसी वक़्त मंजू ने लड़की को ये सब बातें किसी को भी न बताते के लिए डराया धमकाया था। इनके द्वारा अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों को भी बताया गया है, जिसका परीक्षण कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।*

उल्लेखनीय है कि अभियुक्त गणो के मकान मालिक छन्नू निवासी गांधीग्राम से उक्त के सत्यापन के संबंध में जानकारी ली गयी तो इनके द्वारा उक्त दोनों अभियुक्तो का सत्यापन नही कराया गया था, जिस पर मकान मालिक का चालान पुलिस एक्ट के अंतर्गत कर 10,000 रुपये नगद जुर्माना बसूला गया तथा हिदायत दी गयी कि भविष्य में किरायेदारो का सत्यापन अवश्य कराया जाए।

*पुलिस टीम

——————-
1- प्रभारी निरीक्षक, श्री एस0एस0 नेगी
2- व0उप0निरी0, अशोक राठौड़
3- उप0निरी0 सरिता बिष्ट
4- उप0निरी0 राजीव धारीवाल
5- उप0निरी0 प्रताप सिंह
6- कानि0 मनोज यादव
7- कानि0 योगेंद्र
8- कानि0 बारू
9- म0 कानि0 मरजीना





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top