शुक्रवार की सुबह राष्ट्रीय राजधानी में घने कोहरे की वजह से कुछ घंटों तक दृश्यता शून्य रहने से करीब 10 ट्रेनें लेट हो गईं और कई उड़ानों का मार्ग परिवर्तित करना पड़ा.

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार, पालम इलाके में सुबह 4.30 से 6.30 बजे तक दृश्यता गिरकर शून्य हो गई और बाद में 8.30 बजे तक 50 मीटर से कम बनी रही. दृश्यता में सुधार सुबह 9.30 बजे के बाद हुआ और यह 50 मीटर हुई, जो कि एक विमान को उतारने के लिए जरूरी सीमा है.

इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे (आईजीआईए) के एक अधिकारी ने मीडिया से कहा कि कम दृश्यता की वजह से उड़ानों के संचालन पर सुबह 5 बजे से 10 बजे तक बुरा असर पड़ा.

उन्होंने कहा, “कम से कम पांच उड़ानों का मार्ग परिवर्तित कर दिया गया और उड़ानों का प्रस्थान सुबह 10 बजे तक प्रभावित रहा.”

घने कोहरे की वजह से कुछ ट्रेनें भी लेट हुईं. पुरी-नई दिल्ली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस 6 घंटे, गया-नई दिल्ली महाबोधि एक्सप्रेस व हावड़ा-नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस पांच घंटे लेट हुईं.

दिल्ली में न्यूनतम तापमान शुक्रवार को मौसम के औसत में दो डिग्री नीचे 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और आद्र्रता का स्तर 100 फीसदी रहा.

दिल्ली व आसपास के इलाकों में हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई.,केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी)के अनुसार, दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 411 दर्ज किया गया.

राजधानी में गुरुवार को अधिकतम तापमान 22.2 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस रहा था.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top