मंगलवार को बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपनी ही पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि वे जिस तरह से भाजपा के खिलाफ बोल रहे हैं, उन्हें पार्टी छोड़ देनी चाहिए. उन जैसे लोगों के लिए भ्रष्टाचार कोई मुद्दा नहीं है. मोदी ने बिहार एक निजी समाचार चैनल के कार्यक्रम में कहा कि उन्हें अपना नाम बदल लेना चाहिए. जिस पार्टी ने उन्हें मंत्री बनाया, लोकसभा और राज्यसभा भेजा, उसी के वे शत्रु हो गए हैं.

उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को अपने बारे में गलतफहमी हो जाती है, वैसी ही गलतफहमी उनको (शत्रुघ्न सिन्हा) हो गई है.

भाजपा नेता ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा, “राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का डीएनए पहले की ही तरह है और इसमें लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) रामविलास पासवान जुड़ गए हैं. अब ये ‘डीएनए प्लस’ हो गया है, इसलिए इसकी ताकत का अंदाजा लगाया जा सकता है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के राजग से बाहर निकलने के प्रश्न पर सुशाील मोदी ने कहा, “वे पांच सीटें मांग रहे थे, लेकिन हम तीन सीटें देना चाह रहे हैं. हमलोग चाहते थे कि वे राजग में बने रहें, लेकिन वे चले गए. हालांकि उनमें वोट ट्रांसफर कराने की क्षमता भी नहीं थी.”

बिहार में आपराधिक घटनाओं में वृद्धि से संबंधित एक प्रश्न के उत्तर में आंकड़ों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में अपराध की घटनाओं में कमी आई है. पहले बिहार की पहचान अपराध वाले राज्य के रूप में होती थी.

उपमुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार को लेकर पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद पर निशाना भी साधा. उन्होंने दावा किया कि नीतीश कुमार की पहचान विकास के रूप में है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top