बिहार के मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता विनोद नारायण झा द्वारा कांग्रेस की नवनियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी पर की गई एक टिप्पणी को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस अब झा को मंत्रिपरिषद से बाहर निकालने की मांग कर रहे हैं.

बिहार के मंत्री झा ने कांग्रेस द्वारा प्रियंका गांधी के महासचिव बनाए जाने पर गुरुवार को कहा था कि प्रियंका अभी ‘नौसिखिआ’ हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह समझना चाहिए कि सुंदर चेहरे पर वोट नहीं मिलता.

इस बयान के बाद बिहार की राजनीति गरम हो गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधान पार्षद प्रेमचंद्र मिश्रा ने शुक्रवार को कहा कि भाजपा प्रारंभ से ही महिला विरोधी रही है और उनके नेताओं के ऐसे बयान आते रहे हैं. उन्होंने ऐसे भाजपा नेताओं को कुंठाग्रसित बताते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से विनोद नारायण झा को मंत्रिपरिषद से बर्खास्त करने की मांग की.

उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि नीतीश कुमार विनोद नारायण झा की अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ा दें वरना क्षेत्र में घूमना मुश्किल हो जाएगा, क्योंकि अब लोग ऐसे मंत्री का विरोध करेंगे जिनकी महिला के लिए ऐसी मानसिकता है. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि आखिर भाजपा के लोग इतने भयभीत क्यों हैं.

उधर, राजद की महिला नेता एज्या यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से झा को मंत्रिपरिषद से बाहर निकालने की मांग की है. उन्होंने कहा कि भाजपा के नेताओं के बयान से उनकी मानसिकता समझ में आ जाती है.

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने भी मंत्री के इस बयान की निंदा करते हुए सवालिया लहजे में कहा कि क्या भाजपा में जितनी महिलाएं हैं, वे सुंदरता के कारण ही भाजपा में हैं?





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top