कारगिल, सियाचिन और द्रास जैसे एरिया में -40 डिग्री की जमा देने वाली सर्दी में भारतीय सेना के जवान डटकर ड्यूटी करते हैं….-40 डिग्री के तापमान में कई बार जवान 90-90 दिनों तक नहा भी नहीं पाते क्यों इतनी ठंड और बर्फ के बीच नहारा और पानी मिलना असंभव है. तो ऐसेवीर जवान नहाए बिना है ड्यूटी पर तैनात रहते हैं. वहीं अब इन जवानों के लिए आईआईएम के पुनीच गुप्ता ने कुछ खास किया जो की भारतीय जवानों के लिए सौगात से कम नहीं है.

जी हां आईआईएम के पुनीत गुप्ता ने भारतीय जवानों के लिए ऐसे शैंपू-साबून बनाए हैं जिसे पानी की जरुरत ही नहीं है.

आपको बता दें दिल्ली के क्लेन्स्टा इंटरनेशनल के फाउंडर पुनीत गुप्ता ने निजी पत्रिका से बात करते हुए कहा कि डीआरडीओ के लिए एक प्रोजेक्ट पर काम करने के दौरान उन्होंने जवानों की कई दिनों तक न नहाने की समस्या के बारे में जाना. तब उन्होंने दुनियाभर के देशों का रिसर्च किया लेकिन इस समस्या को कोई समाधान नहीं मिला। उन्होंने साल 2016 में आईआईटी के दोस्तों और प्रोफेसर के साथ मिलकर पर्सनल साफ-सफाई से जुड़े प्रोडक्ट को डेवलप करने पर काम किया।

ऐसा करने वाला भारत पहला देश

आपको बता दें अब तक दुनिया में ऐसा कोई भी प्रोडक्ट नहीं बनाया गया है जिसमे पानी के बिना यूज किया जा सके. लेकिन भारत के इंजीनियरों ने ये कर दिखाया औऱ ऐसा करने वाला भारत पहला देश है।

अपने प्रोडक्ट का फॉर्मूला बताने से गुप्ता ने किया मना 

वहीं अपने प्रोडक्ट का फॉर्मूला बताने से पुनीत गुप्ता ने मना कर दिया. गुप्ता ने बताया कि उनके प्रोडक्ट हैंड सैनिटाइजर की तरह नहीं होते। उनके बनाए शैंपू और बॉडी बाथ डस्ट, मैल और स्किन और सर के बालों का ऑयल हटाने का भी काम करते हैं। जवानों को शैपू और बॉडी बाथ लगाकर साफ तौलिये से पोछना होता है और इसमें पानी की जरूरत नहीं पड़ती। ये प्रक्रिया नहाने के बराबर है।

2018 से कर रहे हैं आर्मी को सप्लाई, विदेशों तक पहुंचाएंगे ये फॉर्मूला

अपना प्रोडक्ट बनाने के एक साल बाद 2018 में डिफेंस और आर्मी ने उनके बनाए प्रोडक्ट को पास कर दिया। वह तब से आर्मी और नेवी को शैंपू और साबून सप्लाई कर रहे हैं। आज उनकी कंपनी रोजाना 2 लाख बोतल बना रही है। पुनीत अपना ये फॉर्मूला अमेरिका, यूरोप जैसे देशों तक लेकर जाने वाले हैं। उन्हें अमेरिकी दूतावास से अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सैनिकों के लिए ऐसे प्रोडक्ट भेजने तक की इन्क्वायरी आ रही है।

152 देशों में कराया पेटेंट

कोई अन्य कंपनी या देश उनके प्रोडक्ट को कॉपी न कर ले इसलिए पुनीत ने इसे 152 देशों में पेटेंट कराया है। पुनीत के मुताबिक क्लेन्स्टा के 100 मिलीलीटर शैंपू की बोतल 350 लीटर पानी बचाती है। उनके शैंपू की कीमत 499 रुपए और बॉडी बाथ की कीमत 549 रुपए है। अब वह नासा में भी अपने प्रोडक्ट भेजने पर भी काम कर रहे हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top