देहरादून : बीते दो-तीन दिनों से उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई…औऱ कहीं-कहीं तो ये बर्फबारी अभी भी जारी है…जिस कारण कई रास्ते बंद हो गए हैं जिससे स्थानीय लोगों सहित पर्यटकों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है.

मसूरी धनौल्टी के हालात ये हुए की बर्फबारी के कारण धनौल्टी-सुवाखोली मार्ग बंद हो गया जिससे 15 किलोमीटर लंबा जाम लग गया और लोग फंसे रहे..अभी भी वहां रास्ता साफ नहीं हुआ है.

पैदल चला दुल्हन को लेने

वहीं रुद्रप्रयाग से 80 किलोमीटर दूर ऊखीमठ ब्लाक के त्रियुगीनारायण गांव में दूल्हे ने बर्फबारी की फिक्र न करते हुए पैदल ही दुल्हन को लेने निकल पड़े. जी हां बीते दिन यानी 25 जनवरी को त्रियुगीनारायण गांव के निवासी हर्षमणि के बेटे रजनीश की शादी थी। ऐसे में गाड़ी से बारात लेकर निकलना खतरे से खाली नहीं था लेकिन बारात तो जानी ही थी आखिर दुल्हन सज-धज के दूल्हे का इंतजार जो कर रही थी. ऐसे में बर्फबारी के दौरान ही दूल्हा पैदल ही बारात लेकर रवाना हो गया औऱ दस किलोमीटर का सफर तय किया…इस दौरान तीन फीट तक बर्फ रास्ते में बिछी हुई थी.

सबसे पहले तो बारातियों को कम कर कुछ सीमित लोग ही दूल्हे के साथ बारात में रवाना हुआ. बरात पास के गांव मक्कूमठ जानी थी। किसी तरह तीन फीट बर्फ के बीच बराती पैदल चलकर मक्कूमठ गांव गए और इसी तरह दुल्हन को लेकर वहां से लौटे।

वहीं दूल्हे के पिता हर्षमणि ने बताया कि परिवार तनाव में था, लेकिन बरात के सकुशल पहुंचने के बाद सबने राहत की सांस ली।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top