• हंस जलधारा परियोजना का किया शुभारम्भ
  • हंस फाउंडेशन द्वारा ग्रामीणों को मिलेगा स्वच्छ पेयजल
  • हंस फॉउन्डेशन द्वारा दान दिए नेत्र उपकरणों का लोकार्पण  
  • बागेश्वर में मुख्यमंत्री ने किया अटल आयुष्मान योजना का शुभारम्भ  

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

बागेश्वर ।मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बागेश्वर के विकास खण्ड गरूड़ स्थित पुरड़ा गाॅव में हंस फाउण्डेशन द्वारा निर्मित एक करोड़ 31 लाख 66 हजार की हंस जलधारा परियोजना का शुभारम्भ किया।

इस परियोजना से घर-घर तक स्वच्छ जल उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना के अन्तर्गत 04 ग्राम पंचायत आच्छादित है जिससे लगभग 1095 जनसंख्या लाभान्वित होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हंस फाउण्डेशन द्वारा उत्तराखण्ड में विभिन्न विकासात्मक गतिविधियाॅ संचालित की जा रही है जिसमें शिक्षा, स्वास्थ जैसे क्षेत्रों पर विशेष कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हंस फाउण्डेशन द्वारा उत्तराखण्ड में लगभग 27 करोड़ 33 लाख 11 हजार रूपये की लागत से निर्मित हंस जलधारा परियोजना का संचालन किया जा रहा है। साथ ही हंस फाउण्डेशन द्वारा राज्य में लगभग 500 करोड़ की योजनायें चलाई जा रही है जिसमें लगभग 197 करोड़ की परियोजना पूर्ण की जा चुकी है तथा 100 करोड़ की योजनाओं पर कार्य प्रगतिशील है तथा 200 करोड़ की योजनायें 2020 तक पूरी की जाने की संभावना है। उक्त परियोजनाओं के लिए मुख्यमंत्री द्वारा जनरल एस.एम.मेहता को धन्यवाद देते हुए यह आशा व्यक्त की कि वे जल्द ही विधानसभा बागेश्वर एवं कपकोट के न्यूनतम 10-10 गाॅव के विकास हेतु एक मजबूत कार्ययोजना का निर्माण करेंगे। इस अवसर पर विधायक चन्दन राम दास, विधायक बलवन्त सिंह भौर्याल, जिला पंचायत सदस्य शिव सिंह बिष्ट, जिलाधिकारी रंजना राजगुरू आदि उपस्थित थे। वहीँ मुख्यमंत्री ने बागेश्वर जिले में अटल आयुष्मान योजना का भी शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस योजना के तहत प्रदेश के सभी परिवारों को हर साल पांच लाख रुपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। 

इस अवसर पर गरुड़ के मिनी स्टेडियम पुरड़ा में आयोजित कार्यक्रम के दौरान सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी सरकार की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि  सरकार उत्तराखंड में तेजी के साथ विकास कार्य कर रही है।  इस दौरान केंद्रीय कपड़ा राज्यमंत्री अजय टम्टा, विधायक चंदन राम दास, कपकोट के विधायक बलवंत सिंह भौर्याल समेत कई लोग मौजूद थे। 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लोकसभा चुनाव से पहले बागनाथ धाम को एक करोड़ तीस लाख 76 हजार रुपये की सौगात दी है। इस धन से बागनाथ मंदिर परिसर में संग्रहालय और धर्मशाला समेत अन्य कार्य होंगे। दीगर हो कि सीएम ने 2018 में उत्तरायणी मेले के शुभारंभ के मौके पर बागनाथ धाम के लिए यह घोषणा की थी।

वहीं बागेश्वर के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा देहरादून के महात्मा गाँधी नेत्र चिकित्सा विज्ञान केंद्र के नेत्र विभाग को हंस फॉउण्डेशन द्वारा करोड़ों की लागत से ख़रीद कर दान स्वरुप दिए गए नेत्र उपकरणों का लोकार्पण किया गया।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा हंस फाउंडेशन की माता श्री मंगला जी व भोले महाराज द्वारा राज्य के लगभग सभी जन सुविधा से जुड़े क्षेत्रों में सरकार का सहयोग किया जा जा रहा है।  इसके लिए माताश्री व भोली जी महाराज के सम्मान में हमारे पास शब्द ही नहीं है जो उनके उपकारों का धन्यवाद व्यक्त कर सकें।    

गौरतलब हो कि गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सालय को हंस फाउंडेशन ने करीब दो करोड़ रुपये की 12 अत्याधुनिक मशीनें उपलब्ध कराई हैं। रविवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मशीनों का लोकार्पण किया। उन्होंने 26 नई 108 एंबुलेंस को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

हंस फाउंडेशन के सीईओ एसएम मेहता ने बताया कि फाउंडेशन की ओर अस्पताल को सर्जिकल माइक्रोस्कोप, ऑप्टिकल कोहेरेंस टोमोग्राफी (ओसीटी) मशीन, याग लेजर, स्लिट लैंप व फेको मशीन आदि उपलब्ध कराई हैं। मुख्यमंत्री ने हंस फाउंडेशन का आभार जताया। उन्होंने कहा कि फरवरी माह तक प्रदेश को 50 और नई एंबुलेंस मिल जाएंगी। 

इस दौरान एनएचएम के मिशन निदेशक युगल किशोर पंत, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. टीसी पंत, निदेशक एनएचएम डॉ. अंजली नौटियाल, मुख्य चिकित्साधिकारीडॉ. एसके गुप्ता, अस्पताल के सीएमएस डॉ. बीसी रमोला, एसीएमओ डॉ. संजीव दत्त, प्रातीय चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. डीपी जोशी, उत्तराखंड नर्सेज सर्विसेज एसोसिएशन की अध्यक्ष मीनाक्षी जखमोला आदि उपस्थित रहे। 





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top