हल्द्वानी(योगेश शर्मा) : जीपीएस के माध्यम से पशुओं की गणना करवा रहा है, जो 25 फरवरी तक चलेगीl इसके लिए सर्वेयर घर घर जाकर पशुओं की गणना का काम कर रहे हैं। पशुपालन विभाग के अपर निदेशक ने बताया कि 5 साल बाद की जा रही पशु गणना में पशुओं की संख्या की सही जानकारी उपलब्ध हो इसके लिए मोबाईल टेबलेट और जीपीएस का सहारा लिया जा रहा है l जिसके लिए कुमाऊं में 377 सर्वेयर 76 गणना सुपरवाइजर और 6 स्कूटनी अधिकारियों को लगाया गया है।

उनका कहना है कि पशु गणना में किसी तरह से कोई लापरवाही नहीं बरती जाए इसको लेकर जीपीएस सिस्टम का प्रयोग किया जा रहा है, गणना में  किसी तरह से कोई लापरवाही करता है तो उसका जीपीएस के माध्यम से पता चल जाएगा।

विभाग का कहना है कि पहली बार शत-प्रतिशत आंकड़े इकट्ठे किए जाए जिसके लिए जीपीएस और मोबाइल टेबलेट का सहारा लिया जा रहा हैl उन्होंने बताया कि इस आंकड़े को केंद्र सरकार के पशुपालन विभाग के पास भेजा जाएगा। जिसके बाद केंद्र सरकार प्रदेश के पशुओं की संख्या का सही आकलन जारी करेगा।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top