सोमवार को राज्यकर विभाग की ओर से नगर निगम हल्द्वानी सभागार मे माल एवं सेवा कर पर विभिन्न भागीदारों (स्टेकहोल्डर्स) की एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला का शुभारम्भ सूबे के वित्तमंत्री प्रकाश पंत द्वारा किया गया. वित्तमंत्री का स्वागत मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला तथा विभिन्न व्यापारिक संगठनो द्वारा पुष्पगुच्छ देकर किया गया.

कार्यशाला मे उपस्थित व्यापारियो को सम्बोधित करते हुये वित्तमंत्री पंत ने कहा कि आजादी के बाद देश मे यह पहला अवसर है कि वर्तमान समय में देश आर्थिक आजादी के दौर से गुजर रहा है. पिछले डेढ वर्ष पहले देशभर मे लागू जीएसटी एक देश एक कर के सुखद परिणाम सामने आये है. जीएसटी लागू होने से जहां आम व्यापारियो को सभी सुविधाये ऑनलाइन मिली है वही उपभोक्ताओ को भी जीएसटी का लाभ हुआ है. जीएसटी देश के निर्माण मे एक सफल कदम है. एक देश एक कर प्रणाली का आमजन को फायदा मिला है वही व्यापारियों ने भी इस व्यवस्था को अंगीकृत कर जीएसटी व्यवस्था को कामयाब बनाया है. व्यापारियों के समय-समय पर प्राप्त सुझाओं ने जीएसटी प्रक्रिया के सरलीकरण का रास्ता भी प्रशस्त किया है.

पंत ने कहा कि रिफंड, पंजीकरण तथा पेमेन्ट की सभी प्रक्रियायें ऑनलाइन कर दी गई है. जीएसटी प्रकिया को व्यापारियों को समझाने के लिए प्रदेशभर मे सरकार द्वारा 800 से ज्यादा कार्यशालाये आयोजित कर तीस हजार व्यापारियों से दोतरफा संवाद कायम किया गया है. व्यापारियो की समस्याओं के निराकरण तथा उनको जानकारी उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश भर में 1117 जीएसटी मित्र बनाये गये है. उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य है जहां जीएसटी मित्र व्यवस्था प्रभावी है. उन्होने बताया कि वैटकर प्रणाली से कही ज्यादा व्यापारी जीएसटी व्यवस्था मे पंजीकृत हुये है जो कि एक रिकार्ड है. उन्होने बताया कि राज्यकर विभाग द्वारा प्रदेश के अन्य जनपदों मे भी व्यापारियों के बीच कार्यशालायें आयोजित कर जीएसटी प्रणाली के सम्बन्ध मे जानकारी दी जायेगी.

कार्यशाला मे जिलाध्यक्ष प्रदीप विष्ट,अनिल डब्बू, प्रकाश हर्बोला, गोविन्द सिह टाकुली, प्रकाश रावत के अलावा व्यापारी वर्ग से नवीन वर्मा, रूपेन्द्र नागर, संजीव टंडन, दर्शन पाल सिह, जसपाल सिह चडडा, अमर जीत सिह चडडा, गोविन्द बगडवाल,वीरेन्द्र गुप्ता, विपिन गुप्ता, राजीव अग्रवाल के अलावा अध्यक्ष हिमालय चैम्बर आफ कामर्स वीके लाहोटी के अलावा संयुक्त आयुक्त राज्यकर पीएस डुगरियाल, अपर आयुक्त राज्यकर बीएस नगन्याल, अनिल सिह आदि मौजूद थे. कार्यशाला मे डाटा प्रजेन्टेशन सहायक आयुक्त राज्यकर विनय प्रकाश ओझा द्वारा किया गया.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top