सुप्रीमकोर्ट द्वारा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का कामकाज देखने के लिए नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने टीम इंडिया  के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या और सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल पर उनके महिलाओं के खिलाफ दिए गए बयान पर दो मैचों का प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है. इन दोनों खिलाड़ियों ने बॉलीवुड फिल्म निर्माता करण जौहर के शो पर महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी की थी.

इसके बाद राय ने इन दोनों पर दो वनडे मैचों के प्रतिबंध की सिफारिश की है. राय ने सीओए के अन्य सदस्य डायना इडुल्जी को ईमेल लिखकर यह बात कही.

दोनों क्रिकेटरों के ‘लूज टॉक’ पर ऐक्शन की आशंका इसलिए भी बढ़ गई है क्योंकि खुद कप्तान विराट कोहली ने इस पूरे मसले से टीम को अलग कर लिया है. दूसरी तरफ बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने भी इस पर आपत्ति जताई है और प्रशासनिक समिति से यह पूछा है कि क्या इन क्रिकेटरों ने शो में जाने के लिए परमिशन ली थी. विराट कोहली ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा था कि केएल राहुल और पंड्या की टिप्पणियां टीम का विचार नहीं हैं.

बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष ने कमिटी ऑफ अडमिनिस्ट्रेटर्स के सदस्य डायना इडुल्जी को लिखे पत्र में कहा, ‘शो में गए क्रिकेटरों (हार्दिक पंड्या और केएल राहुल) ने अपने शब्दों से खेल, भारतीय क्रिकेट और क्रिकेटरों की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है। उनका व्यवहार गलत था.’

यही नहीं उन्होंने प्रशासनिक समिति से यह भी पूछा है कि क्या इन क्रिकेटरों ने कार्यक्रम में जाने की परमिशन ली थी. उन्होंने लिखा, ‘क्रिकेटरों के कॉन्ट्रैक्ट के नियमों के मुताबिक किसी भी शो में जाने के लिए उन्हें परमिशन की जरूरत होती है। क्या उन्होंने ऐसी कोई इजाजत ली थी?’

चौधरी के इस सवाल से साफ है कि आपत्तिजनक शब्दों के इस्तेमाल के चलते क्रिकटरों पर कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन के अलावा बीसीसीआई के कॉन्ट्रैक्ट का पालन न करने का भी आरोप बनता है. ऐसे में उनके खिलाफ आने वाले दिनों में बीसीसीआई कोई ऐक्शन ले सकती है.

जानकारी के लिए आपको बता दे हार्दिक पांड्या और उनके साथी केएल राहुल ने ‘कॉफी विद करण’ शो में महिलाओं पर विवादास्पद बयान दिया था. जिसके बाद इसकी काफी आलोचना हुई थी.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top