• वर्षों से पिथौरागढ़ हवाई सेवा से पहुँचने का इंतज़ार हुआ ख़त्म 
  • मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने जताया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार 
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून: सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के लिए आज का दिन ऐतिहासिक  रहा। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से पिथौरागढ़ के लिए हवाई सेवा शुरू हो गई। गुरुवार सुबह 9.30 बजे हेरिटेज एविएशन के विमान ने देहरादून के जौलीग्रांट हवाई अड्डे से पिथौरागढ़ के नैनीसैनी हवाई पट्टी के लिए उड़ान भरी। चीन, नेपाल बॉर्डर से सटे सीमांत जिले पिथौरागढ़ की नैनी-सैनी हवाई पट्टी पर सुबह 10.20 बजे पहली फ्लाइट से उतरे वित्त मंत्री प्रकाश पंत सहित 9 यात्रियों का शानदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि हवाई सेवा शुरु होने से जनपद और उसके आस-पास के जनमानस को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे विकास है।
देहरादून से पिथौरागढ़ तक हवाई सेवा के शुरू हो जाने से अब समय की काफी बचत होगी। अब यात्री एक घंटे से भी कम समय में पिथौरागढ़ से देहरादून पहुंच सकेंगे। देहरादून से पिथौरागढ़ का किराया 1570 रुपये प्रति यात्री है। इस रूट पर अक्टूबर 2018 में ट्रायल लैंडिंग शुरू की गई थी और गुरुवार से इस रूट पर हवाई सेवा की शुरुआत हो गई है।
सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने बताया कि राज्य में उड़ान योजना के अंतर्गत संचालित की जा रही यह दूसरी सेवा नेपाल व चीन सीमा से सटे क्षेत्रों के लोगों की सुविधा के लिए शुरू की गई। एविएशन कंपनी को आने वाले समय में हवाई उड़ान बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश में एयर कनेक्टिविटी बढ़ने से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उड़ान योजना के तहत उत्तराखंड में क्षेत्रीय एयर कनेक्टिविटी का लाभ आम लोगों को मिलेगा। साथ ही प्रदेश में आने वाले पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी। इससे उत्तराखंड के दूरस्थ क्षेत्रों में लोग आसानी से पहुंच सकेंगे। उन्होंने बृहस्पतिवार से शुरू हुयी देहरादून-पिथौरागढ़ हवाई सेवा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से अभी तक 450 वायुयान ही भारत में थे। लेकिन केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद देश में वायुयानों की संख्या एक हजार पहुंच गई है।




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top