अंतरिक्ष में दुनिया का पहला होटल बनाया जाने वाला है. इसे 2021 में स्थापित करने की योजना है. 2022 से इसमें गेस्ट जा सकेंगे. 12 दिन के स्पेस ट्रेवल टूर में छह यात्री होटल में ठहर सकेंगे. होटल में जाने के लिए एक व्यक्ति पर 9.5 मिलियन डॉलर यानी करीब 67 करोड़ रुपए का खर्च आएगा. यात्री गुरुत्वाकर्षणहीनता (जीरो ग्रेविटी) की स्थिति में रहेंगे. होटल को ऑरोरा स्टेशन नाम दिया गया है.

इस होटल को अमेरिका की कंपनी ओरायन स्पान ने बनाया है. ओरायन स्पान के संस्थापक और सीईओ फ्रेंक बंजर का कहना है कि हमारा मकसद अंतरिक्ष को एक आम इंसान की पहुंच में लाना है. लॉन्च होने के तुरंत बाद होटल काम करना शुरू कर देगा. कम कीमतों में लोग अंतरिक्ष यात्रा का लुत्फ उठा सकेंगे. वहीं,12 दिन के टूर में यात्रियों को एस्ट्रोनॉट्स जैसा अहसास होगा.

यात्रयों को 2 साल की ट्रेनिंग से गुजरना होगा
बंजर के मुताबिक, स्पेस होटल में जाने के पहले यात्रियों को बाकायदा 2 साल की ट्रेनिंग से गुजरना होगा. इसमें तीन महीने का ओरायन स्पेस एस्ट्रोनॉट सर्टिफिकेशन प्रोग्राम भी शामिल होगा. ऑरोरा स्टेशन को धरती से 321 किमी दूर अंतरिक्ष की कक्षा स्थापित किया जाएगा. होटल 90 मिनट में धरती का एक चक्कर लगा लेगा. लिहाजा 24 घंटे में यात्रियों को 16 बार सूर्योदय और सूर्यास्त दिखेगा. होटल में शोध भी किया जा सकेगा कि अंतरिक्ष की कक्षा में घूमने के दौरान खाना पकता है या नहीं.

इंटरनेट की सुविधा भी मिलेगी
ऑरोरा स्टेशन जाने वाले यात्री धरती पर अपने परिजन से लाइव चैट कर सकेंगे. होटल में उन्हें हाईस्पीड वायरलेस इंटरनेट की सुविधा मिलेगा. इतना ही नहीं प्रायोजकों की तरफ से धरती वापस लौटने पर उनका हीरो की तरह स्वागत किया जाएगा. होटल 35 फीट लंबा और 12 फीट चौड़ा होगा यानी यह एक प्राइवेट जेट की तरह होगा. इसमें स्लीपिंग पॉड्स और उच्च गुणवत्ता वाला स्पेस फूड उपलब्ध होगा. होटल में बार भी बनाया गया है.

एक कमर्शियल स्पेस स्टेशन स्थापित करने की योजना
टेक्सास की एक कंपनी एक्सियम स्पेस 2024 तक अंतरिक्ष में एक कमर्शियल स्पेस स्टेशन स्थापित करने की योजना बना रही है. कंपनी का कहना है कि 2020 तक वह टूरिस्टों को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में ठहराएगी और बाद में खुद के स्टेशन में. ब्रिटिश बिजनेसमैन रिचर्ड ब्रेन्सन की वर्जिन गैलेक्टिक ने भी लोगों को अंतरिक्ष की सैर कराने का ऐलान किया था. इसमें प्रति यात्री ढाई लाख डॉलर खर्च (1.77 करोड़) की बात कही थी.

 

साभार-हरिभूमि 





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top