2019 के आखिर तक मोबाइल सिम की तरह सेट-टॉप बॉक्स का कार्ड भी बदला जा सकेगा जिससे टेलिविजन देखने वालों को भी खराब सर्विस देने वाली कंपनियों से मुक्ति मिल जाएगी. नई व्यवस्था में वह सेट-टॉप बॉक्स में अपनी मर्जी का कार्ड लगा सकेंगे, ठीक उसी तरह जैसे सही नेटवर्क नहीं मिलने पर मोबाइल नहीं बदलकर सिर्फ सिम बदलना होता है.

टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राइ) 2019 के आखिर तक ऐसी व्यवस्था लाने जा रहा है जिससे आप सेट-टॉप बॉक्स में भी अपनी मर्जी की कंपनी का कार्ड लगा पाएंगे. इससे उन लाखों ग्राहकों को ऑपरेटर चुनने की आजादी मिल जाएगी जो अपने मौजूदा ऑपरेटर से परेशान हैं.

अभी देश में 16 करोड़ पे-टीवी सब्सक्राइबर्स हैं और ज्यादातर सेट-टॉप बॉक्स कंपनी से बंधे हैं. चूंकि, अभी दूसरी कंपनी की सेवा लेने के लिए दोबारा नया डीटीएच खरीदना होगा, इसलिए खराब सर्विस के बावजूद मौजूदा कंपनी में ही बने रहना उनकी मजबूरी है. लेकिन, एक बार पोर्टेबिलिटी की सुविधा आ गई तो सेट-टॉप बॉक्स मोबाइल डिवाइस जैसा हो जाएगा जिसमें जिस कंपनी की चाहें, उसमें सिम कार्ड की तरह सेट-टॉप बॉक्स कार्ड बदल सकते हैं.

ट्राइ के चेयरमैन आर. एस. शर्मा ने कहा कि सेट-टॉप बॉक्स को पहले से ही किसी खास कंपनी का सॉफ्टवेयर लोड करके बेचने की जगह ऐसा तरीका अपनाया जाएगा जिसमें बॉक्स को खरीदने के बाद सॉफ्टवेयर डाउनलोड की अनुमति हो. शर्मा ने कहा, ‘उदाहरण के तौर पर आप मार्केट से एक न्यूट्रल सेट-टॉप बॉक्स खरीदेंगे जो किसी खास कंपनी का नहीं होगा. उसके बाद आप जिस कंपनी की सेवा लेंगे, उसका सॉफ्टवेयर बॉक्स में डाउनलोड हो जाएगा.’

जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि साल के आखिर तक काम पूरा हो जाएगा तो शर्मा ने कहा, ‘प्रॉजेक्ट पर काम चल रहा है. हालांकि, हमने वास्तव में जितना सोचा, यह उससे ज्यादा समय ले रहा है. काम जारी है… मैं सुनिश्चत करूंगा कि यह एक साल के अंदर पूरा हो जाए.’





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top