आम आदमी पार्टी (आप) ने बुधवार को आगामी लोकसभा चुनाव में पुराने, आजमाए जा चुके बैलट पेपर का फिर से इस्तेमाल किए जाने की मांग की. पार्टी ने यह मांग लंदन में एक हैकर द्वारा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में हैकिंग के दावों के मद्देनजर की है. पार्टी ने मांग न पूरी होने की स्थिति में सभी विपक्षी दलों से चुनाव का बहिष्कार करने का आह्वान किया.

आप के राज्यसभा सदस्य और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने बताया कि ‘लोकतंत्र को बचाने और चुनाव प्रक्रिया में एक बार फिर लोगों का विश्वास स्थापित करने के लिए यह आवश्यक है. आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि इन हालिया खुलासों से स्पष्ट रूप से ईवीएम की निष्पक्षता धूमिल हुई है और इसलिए इसकी जगह बैलट पेपर का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

उन्होंने कहा, इससे पता चलता है कि ईवीएम का लाभ सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मिल रहा है और यह विपक्ष को खेल के मैदान से दूर ले जा रही है. पार्टी की प्रदेश इकाई के मुख्य प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने दावा करते हुए कहा कि चुनाव आयोग यह मानने के लिए तैयार नहीं है कि ईवीएम से छेड़छाड़ हो सकती है.

पार्टी ने ईवीएम की विश्वसनीयता पर संदेह जताते हुए सभी राजनीतिक दलों से मांग की है कि वे भारत के चुनाव आयोग को यह लिखित में दें कि अगर ईवीएम का इस्तेमाल चुनावों के लिए किया गया तो वे आगामी लोकसभा चुनावों का बहिष्कार करेंगे. उन्होंने कहा, ईवीएम पर प्रतिबंध लगाने और लोकसभा और भविष्य के सभी चुनाव बैलट पेपर पद्धति के माध्यम से कराने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top