• आज़ादी के 71 वर्ष बाद भी सड़क के लिए तरसते ग्रामीण

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : गढ़वाल मंडल में जहां जनपद चमोली के गैरसैंण विकासखंड स्यूणीमल्ली के ग्रामीणों का सड़क आंदोलन 11 वें  दिन भी जारी रहा। यहां के ग्रामीणों ने पिछले 12 दिनों में लगभग 100 मीटर सड़क बना डाली है वहीं  सूबे के गढ़वाल मंडल के अन्य जनपदों में भी सड़कों के लिए जगह-जगह ग्रामीणों ने सडकों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं । आज़ादी के 71 वर्ष बाद भी सड़क के लिए तरसते ग्रामीणों ने अपने गांव तक आवाजाही के लिए सड़कें नहीं होने  और सड़क न होने के कारण रोज की परेशानी से निज़ात पाने के लिए श्रीनगर , गोपेश्वर और चम्बा में  जमकर प्रदर्शन किया। इन स्थानों पर हुए प्रदर्शन में ग्रामीणों का दर्द  लोगों के चेहरे पर साफ दिखाई दे रहा था। सरकार तक आवाज पहुँचाने के लिए ग्रामीणों ने  परंपरागत वाद्य यंत्रों ढोल और दमांऊ के साथ जमकर प्रदर्शन किया। 

  • डुमक, कलगोंठ , किमाणा सड़क की मांग 

गोपेश्वर (चमोली)। डुमक, कलगोंठ , किमाणा और इससे लगे गांवों को जोडने वाली सड़क की उपेक्षा से नाराज दर्जनों गांवो के ग्रामीणों ने मुख्यालय की सड़कों पर जोरदार प्रदर्शन कर सडक जल्दी बनाने की  मांग की । गोपेश्वर में जिले के दूरस्थ गांवों कलगोंठ , डुमक , उर्गम , सैंजी , मैकोट , बेमरू ,आदि गांवों के ग्रामीणों ने मुख्य चौराहे पर एकत्र होकर अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन किया ।  ढोल बाजों , बैनरों को लेकर ग्रामीण जिला अधिकारी कार्यालय पर पहुंचे ।

  • सैंजी लग्गा मैकोट , बेमरु मोटर मार्ग के निर्माण में ढिलाई का आरोप 

ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को बताया कि सैंजी लग्गा मैकोट , बेमरु मोटर मार्ग के निर्माण में तेजी लायी जाय । ग्रामीणों का आरोप है कि पी एम जी एस वाई बनाई जा रही इस सड़क के निर्माण में कार्यदायी संस्था और ठेकेदार शिथिलता बरत रहे हैं ।  यह भी कहा कि मोटर निर्माण से लगे तीन पुलों पर भी कार्य शुरू किया जाय। दूरस्थ गांवो को जोडने वाली इस सडक से सम्बंधित सभी सडकों का निर्माण भी शीघ्र किया जाय और गांवों में दूर संचार व्यवस्थाओं को अमली जामा पहनाया जाय।

  • पी एम जी एस वाई बनाई जा रही है सड़क

ग्रामीणों ने साफ ऐलान किया कि यदि उनकी मांगे पूरी न हुयी तो वे बड़ा आन्दोलन करेंगे। इस अवसर पर प्रेम सिंह सनवाल ,बहादुर सिंह रावत ,प्रताप सिंह राणा , इन्द्र सिंह सनवाल ,विक्रम सिंह नेगी,जगदीश सिंह, मोहन सिंह, सरस्वती सनवाल ,रवींद्र सिंह नेगी आदि ग्रामीण जन प्रतिनिधि मौजूद थे। जिलाधिकारी स्वाति भदौरिया ने कहा शुक्रवार को उप जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक बैठक ग्रामीणों के बीच आयोजित की जायेगी । इस बैठक में सड़क निर्माण एजेंसी और कार्य दायी संस्था के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। 

  • डुंगरी – बिजार कोट दुर्गा पुर सड़क की मांग

राज्य योजना के अंतर्गत डुंगरी बिजार कोट  छिनका से नौरी धार दुर्गा पुर पुल तक सड़क निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जिला अधिकारी चमोली को ज्ञापन दिया है । डुंग्री के पूर्व प्रधान शरद सिंह नेगी ने बताया कि चार बार शासन के समक्ष इस सड़क की डीपीआर भेजी जा चुकी है। पर शासन सड़क को स्वीकार करने के बजाय डीपीआर रिपीट कर रहा  है । बहाना और तर्क दिया जाता है कि पैसा नहीं है । उन्होंने मांग की है कि शासन हम ग्रामीणों की मजबूरी समझते हुये सडक के निर्माण के लिये धन इस बार हर कीमत पर स्वीकृत करे ।  

  • चंबा के लोगों ने रुकवाया ऑल वेदर रोड का काम  

चंबा। ऑल वेदर रोड निर्माण की जद में आए खेतों का समान प्रतिकर भुगतान न होने पर दिखोलगांव के ग्रामीणों ने कड़ा रोष जताया। गुस्साए ग्रामीणों ने गांव के पास चल रहे निर्माण कार्य को रुकवाकर विरोध जताया। उन्होंने सभी ग्रामीणों को एक समान मुआवजा न दिए जाने पर शुक्रवार से क्रमिक अनशन पर बैठने की चेतावनी दी है। ब्लॉक मुख्यालय चंबा से सटे दिखोलगांव के ग्रामीणों ने ऑल वेदर रोड निर्माण के तहत सभी ग्रामीणों को एक समान प्रतिकर न दिए जाने पर नाराजगी जताई है।  ग्रामीणों ने गांव के पास कार्य स्थल पर जाकर निर्माण कार्य रुकवाकर सभी ग्रामीणों को एक समान मुआवजा दिए जाने की मांग की।

  • न्यायसंगत नहीं है मुआवजा राशि का वितरण 

ग्रामीण उत्तम सिंह रावत का कहना है कि प्रशासन की ओर से उनके खेतों के सटे खेतों का भुगतान दो करोड 90 लाख रुपये प्रति हेक्टेयर कर दर से किया जा रहा है। जबकि कई ग्रामीणों को मात्र 11 लाख रुपये की दर ही भुगतान किया जा रहा है, जो कि न्यायसंगत नहीं है। कहा कि प्रशासन के इस उपेक्षित रवैये से ग्रामीणों में रोष बना हुआ है। उन्होंने प्रशासन से सभी ग्रामीणों को समान दर से मुआवजा देने की मांग की है। चेतावनी दी कि यदि सभी को एक समान मुआवजा नहीं दिया जाता है तो वे आंदोलन करेंगे। मौके पर कमल रावत, ज्ञान सिंह रावत, दीपक रावत, दयाल सिंह रावत, प्यारा देवी, जलमा देवी, गुड्डी देवी, रेखा आदि मौजूद थे।

  • भीमपाणी गांव के ग्रामीणों ने विधायक से की सड़क की मांग 

श्रीनगर। कीर्तिनगर ब्लॉक के अन्तर्गत सुपाणा-धारी मोटरमार्ग से लगे भीमपाणी गांव के लिए स्वीकृत पांच किमी सड़क निर्माण के लिए ग्रामीणों ने विधायक विनोद कंडारी से जल्द कार्यवाही की मांग की है। भीमपाणी गांव पहुंचे विधायक विनोद कंडारी से क्षेत्रीय ग्रामीणों ने वार्ता कर सड़क निर्माण में संबंधी विभाग से जल्द कार्यवाही कराये जाने की मांग रखी। विधायक ने ग्रामीणों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।  मौके पर स्थानीय निवासी जीत सिंह बिष्ट, राकेश बिष्ट, सुनील कठैत, जगत सिंह, तेज सिंह, उदय सिंह, सुशीला देवी कठैत आदि मौजूद थे।

  •  चमोली जिले की तीन सड़कों के निर्माण के लिए हुआ शासनादेश

चमोली जिले की सुदूरवर्ती ग्राम पंचायत रुईसाण, कनोल और सितेल के ग्रामीणों को अपने गंतव्य तक जाने के लिए लंबी दूरी पैदल नहीं नापनी पड़ेगी। जल्द ही ये गांव सड़क से जुड़ जाएंगे। शासन की ओर से बंगाली-रुईसाण (22 किमी), सितेल-लेटाला-कनोल (15 किमी) और बूरा-आला-जोखना-सितेल (10 किमी) मोटर मार्ग के नवनिर्माण का शासनादेश जारी किया गया है। साथ ही इन सड़कों के निर्माण की प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति भी दे दी गई है। 723.08 लाख रुपये की लागत से सड़कों का निर्माण होगा। गत वर्ष मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने घाट क्षेत्र में रुईसाण, कनोल और सितेल गांवों तक सड़क निर्माण की घोषणा की थी। अब इन सड़कों के निर्माण का शासनादेश जारी कर दिया गया है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top